शत्रुघ्न सिन्हा का सवाल- किस हैसियत से मुझे पार्टी से निकालने की बात कही जा रही है

0

बीजेपी नेता सुशील मोदी द्वारा बॉलीवुड एक्टर और बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा को गद्दार कहने के बाद शत्रुघ्न सिन्हा ने एक बार फिर से सुशील मोदी पर ट्वीट के जरिए वार किया है। सुशील मोदी ने ट्विटर पर मोर्चा खोलते हुए ‘गद्दारों’ को बाहर करने की मांग कर डाली। उनके इस ट्वीट के बाद शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्वीट कर उनपर ही बिहार के हार का ठीकरा फोड़ा है और उनपर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से कार्रवाई की बात कही है।

शत्रुघ्न सिन्हा

शत्रुघ्न सिन्हा ने बुधवार (24 मई) को ट्वीटकरते हुए लिखा कि, बिहार के एक वरिष्ठ राजनीतिक सहयोगी और नेता द्वारा मेरे खिलाफ असंसदीय बयान दिये जाने से मेरे मित्र, मेरे चाहने वाले और राजनीतिक नेता काफी आहत हैं। मेरे चाहने वालों ने इसे मामले को लेकर मैसेज भेजा हैं।

साथ ही उन्होंने लिखा कि, एक वरिष्ठ साथी जो लंबे समय से राजनीति में साथ रहे हैं, उनसे इस कदर उम्मीद नहीं की जा सकती है कि वे मर्यादा की सारी सीमाओं को तोड़ दें। शत्रु ने इशारों-इशारों में सुशील मोदी पर हमला बोलते हुए लिखा है कि आपकी अपनी निराशा, राजनीति में गुम हो रही आपकी अपनी शख्सियत,आपको परेशान किये हुए है। लेकिन, ऐसा बयान देने के लिए यह कोई जस्टिफिकेशन नहीं है कि आप अपनी परेशानी की आड़ में दूसरों पर कीचड़ उछाले।

शत्रुघ्न सिन्हा ने आगे लिखा है कि और मैं कोई बदनाम चेहरा नहीं हूं। राजनीति में बहुत सारे लोगों ने मेरे वसूल, सिद्धांत और मेरे धैर्य की तारीफ की है, और जो लोग मेरी आलोचना कर रहे हैं। उन पर ही लोगों ने पार्टी को खत्म करने और बदनाम करने के लिए सवाल खड़े किये थे। लोगों ने ऐसे शख्स पर ही उंगली उठाई थी।

शत्रु ने आगे ट्वीट करते हुए लिखा है कि मुझे आज पार्टी से निकालने की बात की जा रही है, मैं पूछता हूं किस हैसियत से मुझे पार्टी से निकालने की बात कही जा रही है। शत्रु ने भोला बाबू के बयान का हवाला देते हुए ट्वीट किया है कि भोला बाबू ने सही सवाल उठाया है कि आखिर किस हैसियत से शत्रुघ्न सिन्हा को पार्टी से निकाले जाने की बात की जा रही है।

गौरतलब है कि, शत्रुघ्न सिन्हा ने सोमवार (22 मई) राजनेताओं को हिदायत देते हुए ट्वीट में लिखा है कि लालू यादव, अरविंद केजरीवाल या सुशील मोदी आप लोगों ने नकारात्मक राजनीति को चरम पर पहुंचा दिया है, अब बस कीजिए।शत्रुघ्न सिन्हा ने इस बार लिखा है कि हमारे राजनेताओं पर कीचड़ उछालना और नकारात्मक राजनीति बहुत हुई फिर चाहे वो अरविंद केजरीवाल हो, लालू यादव हो या फिर सुशील मोदी हों।

उन्होंने आगे लिखा है कि यह सही वक्त है जब आरोपों को साबित किया जाए या फिर बंद कर दें। इसके साथ ही सिन्हा ने आगे ट्वीट किया है कि मैं अपने स्तर पर कई राजनेताओं जिनमें केजरीवाल भी हैं उन्हें उनकी विश्वसनियता, संघर्ष और समाज के लिए प्रतिबद्धता के लिए सम्मान से देखता हूं।

जिसका जवाब देते हुए सुशील मोदी ने बिना नाम लिए निशाना साधते हुए कहा कि यह ज़रूरी नहीं जो शख़्स मशहूर है उस पर ऐतबार किया जाए, जितनी जल्दी हो घर से गद्दारों को बाहर किया जाए। इतना ही नहीं उन्होंने अपने अगले ट्वीट में लिखा कि, जिस लालू की बेनामी संपत्ति के बचाव में नीतीश नहीं उतरे उसके बचाव में भाजपा के ‘शत्रु’ कूद पड़े।

बता दें कि, केजरीवाल पर उनके ही पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने 2 करोड़ रुपये घूस लेने का आरोप लगया था। पिछले काफी समय से सुशील मोदी दस्तावेज पेश कर लालू प्रसाद यादव के खिलाफ घोटालों का आरोप लगा रहे हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here