राहुल द्रविड़ द्वारा भाजपा कार्यक्रम में शामिल होने के दावों को खारिज करने के बाद प्रशंसकों को विराट कोहली जैसे परिणामों का डर

0

टीम इंडिया के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने उन दावों को दृढ़ता से खारिज कर दिया है जिस में कहा गया था कि  वो इस सप्ताह हिमाचल प्रदेश में एक बड़े भाजपा कार्यक्रम में शामिल होने वाले हैं । द्रविड़ की इस सफाई के बाद प्रशंसकों को ये चिंता होने लगी है क्या उन्हें भी हिंदुत्व समर्थकों द्वारा भविष्य में उसी तरह प्रताड़ित किया जाएगा जैसे विराट कोहली को हिंदुत्व समर्थकों पर हमला करने के बाद सामना करना पड़ा था।

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा, “मीडिया के एक वर्ग ने बताया है कि मैं 12 से 15 मई, 2022 तक हिमाचल प्रदेश में एक बैठक में भाग लूंगा। मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि उक्त रिपोर्ट गलत है।”

इससे पहले हिमाचल प्रदेश के एक भाजपा विधायक ने दावा किया था कि द्रविड़ भाजपा शासित पहाड़ी राज्य में होने वाले भाजपा के एक कार्यक्रम में शामिल होंगे।

धर्मशाला से भाजपा के विधायक विशाल नेहरिया ने एनडीटीवी के अनुसार, दावा किया था कि द्रविड़ 12 से 15 मई के बीच हिमाचल प्रदेश में हिंदुत्व पार्टी की राष्ट्रीय कार्य समिति के सत्र में अतिथि होंगे।

नेहरिया ने कहा था , “भाजपा युवा मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यसमिति धर्मशाला में 12 से 15 मई तक होगी। इसमें भाजपा का राष्ट्रीय नेतृत्व और हिमाचल प्रदेश का नेतृत्व शामिल होगा। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, राष्ट्रीय संगठन मंत्री और केंद्रीय मंत्री भी सत्र में शामिल होंगे।”

प्रशंसकों ने द्रविड़ के स्पष्टीकरण पर राहत व्यक्त की, जैसा कि एक ने लिखा, “धन्यवाद राहुल द्रविड़! हम कल्पना भी नहीं कर सकते आप कभी दक्षिणपंथियों के साथ जुड़ेंगे। ”

एक अन्य प्रशंसक ने ट्विटर पर लिखा, “मैं बहुत राहत महसूस कर रहा हूं। द्रविड़ एक नेक इंसान हैं।”

कुछ लोगों ने कहा कि द्रविड़ को अपनी इस सफाई की क़ीमत चुकानी पड़ सकती है ठीक वैसे ही जैसे विराट कोहली को मोहम्मद शमी के पक्ष में बयां देने के लिए परेशान किया गया था। एक हिंदुत्व समर्थक ने कोहली की नौ महीने की बेटी को बलात्कार की धमकी भी दी थी। उस आरोपी को, जो एक IIT का छात्र था,  बाद में मुंबई पुलिस ने हैदराबाद से गिरफ्तार किया था।

Previous articleFans fear Virat Kohli-like consequences after Rahul Dravid rubbishes claims of attending BJP event
Next articleNationwide CBI raids as part of crackdown on NGOs, many government officials detained