मुख्य सचिव से बदसलूकी मामला: AAP के 2 और विधायको को पुलिस ने किया तलब

0

दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर कथित मारपीट के मामले में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (AAP) के दो और विधायको की मुश्किलें बढ़ सकती हैं

PHOTO: PTI/New Indian Express

सांध्य टाइम्स के हवाले से नवभारत टाइम्स में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ कथित मारपीट के मामले को लेकर दिल्ली पुलिस ने आज शाम को आप के दो विधायकों को पूछताछ के लिए बुलाया है। इन विधायकों के नाम नितिन त्यागी व राजेश ऋषि हैं, जो सीएस अंशु प्रकाश के साथ हुई मारपीट व उन्हें धमकी देने के मामले में संदिग्ध हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस सूत्रों ने इस ओर भी इशारा किया है कि संभवत: दोनों को गिरफ्तार भी किया जा सकता है, हालांकि फिलहाल इस संदर्भ में पुलिस कुछ भी नहीं बोल रही है। नॉर्थ डिस्ट्रिक्ट के अडिशनल डीसीपी हरेंद्र कुमार सिंह ने दोनों विधायकों को पूछताछ के लिए बुलाए जाने की बात की पुष्टि की है।

नवभारत टाइम्स में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शकरपुर से विधायक नितिन त्यागी और जनकपुरी से विधायक राजेश ऋषि 19 फरवरी की आधी रात को सिविल लाइन स्थित सीएम हाउस में आयोजित बैठक में शामिल थे और उस कक्ष में उस समय मौजूद थे, जब सीएस अंशु प्रकाश के साथ मारपीट की गई थी। पुलिस जांच में यह बात निकलकर सामने आई है कि उक्त दोनों विधायक सीएस के साथ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने और उन्हें धमकी देने वालों में शामिल थे। यह बात मामले के शिकायतकर्ता अंशु प्रकाश ने अपनी शिकायत में कही थी और यह भी कहा था कि वह मीटिंग में मौजूद विधायकों को पहचान सकते हैं।

इतना ही नहीं, जब मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सलाहकार वीके जैन से पूछताछ की गई थी और जब उन्होंने बयान दिए थे, उस दौरान उन्होंने बैठक में शामिल रहे विधायकों के नाम के बारे में भी बताया था। इसके अलावा जब प्रकाश जारवाल को गिरफ्तार किया गया था और जब उससे रातभर पूछताछ की गई थी तो उन्होंने भी बैठक में शामिल होने वाले विधायकों के नाम का खुलासा किया था। अब हमारी जांच में सामने आया है कि राजेश ऋषि और नितिन त्यागी न केवल उस कक्ष में मौजूद थे, बल्कि सीएस अंशु प्रकाश के सामने वाले सोफे पर बैठे थे और उन्हें धमकाने का काम कर रहे थे।

वहीं, दूसरी ओर मुख्य सचिव से बदसलूकी और मारपीट मामले में AAP विधायक प्रकाश जारवाल की जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्‍ली हाई कोर्ट ने दिल्‍ली पुलिस को नोटिस जारी किया है। न्यूज़ 18 हिंदी में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्‍ली पुलिस को 7 मार्च तक नोटिस का जवाब देना है। बताया जाता है कि उसी दिन विधायक प्रकाश जारवाल की जमानत याचिका पर भी सुनवाई होगी।

न्यूज़ 18 हिंदी की रिपोर्ट के मुताबिक, तीस हजारी कोर्ट के सेशन कोर्ट से राहत नहीं मिलने के बाद अब आप विधायक ने दिल्‍ली हाईकोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की है। तीस हजारी सेशन कोर्ट की जज अंजू बजाज चंदना ने फैसला सुनाते हुए कहा कि आरोप गंभीर है। इसीलिए प्रकाश जरवाल को जमानत नहीं मिल सकती। आप विधायक प्रकाश जरवाल ने हाल में हुई अपनी शादी का हवाला देते हुए कोर्ट में जमानत की अर्जी दी थी। जिसे कोर्ट ने यह कहते हुए खारिज कर दिया कि 56 साल के व्यक्ति के साथ जिस तरह से मारपीट हुई है, ये काफी गंभीर मामला है।

बता दें कि, वहीं दूसरी ओर लाभ के पद मामले में अयोग्य करार दिए गए आम आदमी पार्टी (AAP) के पूर्व 20 विधायकों की अयोग्यता के मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने दलीलों को सुनकर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है। अमर उजाला न्यूज़ वेबसाइट में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, बुधवार(28 फरवरी) को मामले की सुनवाई के बाद दिल्ली हाईकोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है। अगले हफ्ते फैसला आने की संभावना है।

AAP के 20 विधायकों की अयोग्यता संबंधी मामले की सुनवाई करते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा था कि ये विधायक लाभ के पद पर रहे हैं। इन्होंने लाभ लिया या नहीं, यह महत्वपूर्ण नहीं है। यह प्रतिक्रिया कोर्ट ने विधायकों की उस दलील पर दी जिसमें उन्होंने कहा था कि उन्हें संसदीय सचिव बनाया गया लेकिन उन्होंने कोई लाभ नहीं लिया, इसलिए यह लाभ का पद नहीं है।

 

Previous articleAlleged assault on Chief Secretary: Delhi Police summons two more AAP MLAs
Next article67-year-old maulvi arrested for raping 9-year-old girl, cops deny presence of madrasa