मुबंई: 9 दोस्तों ने 15 साल की लड़की से एक साल तक किया दुष्कर्म, 6 गिरफ्तार

0
Follow us on Google News

मुंबई में रेप का एक घिनौना मामला सामने आया है, यहां पर 15 साल की एक लड़की को वीडियो क्लिप से ब्लैकमेल कर नौ लड़कों ने कई दिनों तक उसका रेप किया। इस मामले में विले पार्ले पुलिस ने शनिवार को नौ लड़कों में से छह को गिरफ्तार कर लिया है, वहीं तीन अन्य अभी फरार हैं। विले पार्ले में रहने वाली पीड़िता पिछले एक साल से यह ज्यादती सह रही थी।

अंग्रेजी न्यूज़ वेबसाइट मिड डे.कॉम की ख़बर के मुताबिक, पीड़ित लड़की 10वीं कक्षा की छात्रा है और उसके माता-पिता मजदूरी करते हैं। लड़की ने पुलिस को बताया कि उसने एक साल पहले एक निजी मामले के मदद के लिए इन आरोपियों में से एक से संपर्क किया था, बाद में लड़की के उस व्यक्ति के साथ संबंध बन गए थे।

आरोपी ने अंतरंग क्षणों की एक वीडियो क्लिप बनाया और अपने आठ दोस्तों के बीच इसे शेयर कर दिया। इसके बाद उन सभी ने लड़की को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया और उसके साथ रेप किया। पीड़िता ने अपने माता-पिता या किसी और को यह बात नहीं बताई क्योंकि उसे डर था कि आरोपी उसके परिवार के सदस्यों को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

Padmaavat controversy: We remained silents when they beat up Muslims, Dalits

मिड डे.कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने कहा कि पीड़िता सभी अभियुक्तों को जानती है क्योंकि वे उसी इलाके में रहते हैं। मामले की जानकारी उस वक्त सामने आई, जब पीड़िता इस ज्यादती को और बर्दाश्त नहीं कर सकी और उसने अपनी मां को इस बारे में बता दिया। इसके बाद मां उसे लेकर विले पार्ले पुलिस के पास पहुंची और पुलिस ने लड़की के बयान के आधार पर छह अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया।

तीन आरोपी अभी फरार चल रहे हैं। वे अपने परिवारों के साथ रहते हैं और मजदूरी करते हैं। आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376 (बलात्कार) और पॉस्को एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। अभियुक्तों को अदालत में पेश किया गया है और उन्हें 12 फरवरी तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, गिरफ्तार आरोपियों की आयु 18 से 20 साल के बीच है। उनमें एक राजनीतिक पार्टी का 30 वर्षीय युवा अध्यक्ष भी शामिल है। जोन 8 के डीसीपी अनिल कुंभारे के अनुसार, पुलिस ने आईपीसी की धारा 376, 363, पॉक्सो कानून की धारा 4, 8, 509 में मामला दर्ज किया है।

Media and freedom of expression with Michael Flannery, Rifat Jawaid and Aniruddha Bahal

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here