गुजरात चुनाव: BJP को बड़ा झटका, टिकट नहीं मिलने से नाराज पूर्व सांसद और बेटे ने छोड़ी पार्टी

0

गुजरात विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के टिकट बंटबारे को लेकर आए दिन बीजेपी कार्यकर्ताओं ओर नेताओं के असंतुष्ट होने की खबरें सामने आ रही है। इसी बीच गुजरात में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को एक ओर बड़ा झटका लगा है। क्योंकि, पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद कांजी भाई पटेल और उनके बेटे सुनील पटेल ने बीजेपी से इस्तीफा दे दिया है।

गुजरात

बता दें कि, पूर्व सांसद कांजी भाई पटेल ने मंगलवार(21 नवंबर) को देर रात पार्टी से इस्तीफे की घोषणा की है। कांजी भाई के साथ-साथ उनके बेटे सुनील पटेल ने भी बीजेपी से इस्तीफा दे दिया है। उनके इस्तीफे के बाद से ही पार्टी के अंदर खलबली मच गई है, पूर्व सांसद कांजी भाई पटेल टिकट बंटवारे से नाराज थे।

ख़बरों के मुताबिक, कांजी भाई पटेल अपने बेटे सुनील पटेल को टिकट दिलाना चाहते थे लेकिन जब पार्टी ने उनकी नहीं सुनी तो उन्होंने बीजेपी से इस्तीफा दे दिया। कहा जा रहा है कि पूर्व सांसद के बेटे सुनील पटेल अब निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में गुजरात की गांदेवी सीट से चुनाव लड़ेंगे।

पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा देने वाले कांजी भाई पटेल गुजरात में बीजेपी के कद्दावर नेताओं में से एक माने जाते रहे हैं। कांजी भाई साल 2006 से 2012 तक राज्यसभा के सदस्य रह चुके हैं। माना जा रहा है कि कांजी भाई गुजरात में बीजेपी उम्मीदवारों की घोषणा होने के बाद से ही पार्टी नेतृत्व से नाराज थे और इसी कारण उन्होंने मंगलवार को अपने बेटे के साथ पार्टी छोड़ने का ऐलान किया।

एनडीटीवी की ख़बर के मुताबिक, बीजेपी विधायक शामजी चौहान ने भी पार्टी छोड़ने की धमकी दी है, वह चोटिला विधानसभा सीट से विधायक हैं। बीजेपी की दूसरी सूची में शामजी चौहान सहित नौ मौजूदा विधायकों को टिकट नहीं दिया गया और नये चेहरों को लाया गया है। बता दें कि, चोटिला विधानसभा क्षेत्र के लिए चौहान की जगह जिनाभाई देदवारिया को टिकट दिया गया है।

ख़बर के मुताबिक, चौहान ने कहा है कि ‘एक व्यक्ति जिसने पार्टी हितों के खिलाफ काम किया और पिछले पांच साल में इसे तोड़ने की कोशिश की, उसे चुनाव लड़ने का अधिकार दिया गया है। लोगों के बीच उनकी छवि खराब है और मैं उन्हें चुने जाने के लिए काम नहीं करूंगा।

बीजेपी विधायक जेठा सोलंकी ने दिया इस्तीफा

गौरतलब है कि, गुजरात विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के टिकट बंटबारे को लेकर आए दिन बीजेपी कार्यकर्ताओं के असंतुष्ट होने की खबरें सामने आ रही है। बता दें कि, इससे पहले कोडिनार सीट से बीजेपी विधायक व दलित नेता जेठा सोलंकी ने शनिवार(18 नवंबर) को पार्टी छोड़ दी और सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था। सोलंकी ने आरोप लगाया था कि भाजपा शासन में दलितों ने अत्याचारों का सामना किया है।

इससे पहले भी बीजेपी के कई नेता दे चुके है इस्तीफा

बता दें कि, बीजेपी की पहली लिस्ट जारी होते ही पार्टी में कई नेताओं ने नाराज होकर पार्टी प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघानी को तत्काल प्रभाव से अपने इस्तीफे तक सौंप दिए है। इससे पहेल डांग में जिला बीजेपी महामंत्री दशरथ पुवार ने भी इस्तीफा दे दिया। पादरी जिला पंचायत और तहसील पंचायत के नेता कमलेश पटेल ने इस्तीफा दिया है। वहीं वडोदरा जिला महामंत्री चैतन्य सिंह झाला ने भी पार्टी को इस्तीफा दे दिया है।

गौरतलब है कि, गुजरात में दो चरणों में चुनाव कराए जाएंगे। पहले चरण का चुनाव 9 दिसंबर, जबकि दूसरे चरण का चुनाव 14 दिसंबर को होगा। बता दें कि गुजरात विधानसभा चुनाव की मतगणना हिमाचल प्रदेश विधानसभा के लिए हुए चुनाव के साथ 18 दिसंबर को होगी।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here