VIDEO: BJP मंत्री के बिगड़े बोल, कहा- सेना पर बयान देने वाले नेताओं के टुकड़े-टुकड़े कर देने चाहिए

0

हमेशा अपने बयानों को लेकर सुर्खियां बटोरने वाले समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान ने हाल ही में सेना पर आपत्तिजनक बयान देकर खूब सुर्खिया बढ़ोरी थी। लेकिन अब राजस्थान सरकार में देवस्थान विभाग के मंत्री राजकुमार रिणवा अपने एक विवादित बयान को लेकर सुर्खियों में आए हैं। जिन्होंने कुछ नेताओं को कमीना तक बता डाला।

BJP

समाचार एंजेसी ANI ने एक वीडियो जारी किया है जो रविवार(9 जुलाई) के किसी कार्यक्रम का बताया जा रहा है, पत्रकारों से बात करते हुए पर राजस्थान सरकार के मंत्री राजकुमार रिणवा ने कहा कि, देश में ऐसा कानून बनाना चाहिए जिसके तहत उन राजनेताओं के टुकड़े किए जा सकें जो सेना पर बयान देते हैं।

साथ ही उन्होंने कहा कि, इस तरह के कमीने नेताओं की बोटी बोटी काट देनी चाहिए और उन्हें पांच मिनट में खत्म कर देना चाहिए और ऐसा करने वाले पर केस भी नहीं चलना चाहिए। जिसमें उन्होंने कुछ नेताओं को कमीना तक कह डाला।

Also Read:  UN में सुषमा स्‍वराज के भाषण पर मशहूर इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने कसा तंज

दरअसल, रिणवा ने शहीदों पर बयानबाजी करने वाले नेताओं पर बरसते हुए अपनी भड़ास निकाली और शहीदों के बारे में बयानबाजी करने वाले नेताओं को कमीना करार दे दिया। ख़बरों के मुताबिक, रविवार (9 जुलाई)को सीकर जिले के कोलिड़ा गांव में शहीद केशर देव की प्रतिमा अनावरण समारोह में ​शामिल होने के लिए पहुंचे थे।

देखिए वीडियो:

बता दें कि इससे पहले समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान ने भी सेना पर आपत्तिजनक बयान दिया था, उन्होंने भारतीय सुरक्षाबलों पर रेप के आरोप लगाए थे। आजम खान ने यह आरोप यूपी के रामपुर में एक कार्यक्रम के दौरान कही वहां पर उन्होंने कहा कि, भारत की सेना जम्मू कश्मीर के लोगों से बुरा व्यवहार कर रही है। उनका यह सामने आने के बाद विवाद खड़ा होना तो तय है।

Also Read:  जाट आंदोलन हुआ स्थगित, सामान्य रहेगी मेट्रो सेवा

समाचार एजेंसी एएनआई के द्वारा जारी किए गए इस वीडियो में आजम खान ने कहा कि सीमा पर जंग चल रही है, लेकिन कुछ जगहों पर जम्मू कश्मीर की महिलाएं जवानों की हत्या कर रही है, महिलाओं का ये कदम हमें ये सोचने पर मजबूर करता है कि क्या ऐसा करने के पीछे कोई वजह है।

Also Read:  सुप्रीम कोर्ट ने ख़ारिज की जस्टिस खेहर को मुख्य न्यायाधीश न बनाए जाने की मांग करने वाली याचिका

साथ ही आजम खान ने कहा था कि दशहतगर्द आम तौर पर हाथ काट कर ले जाते हैं, लेकिन जम्मू कश्मीर में एक मौके पर महिला दहशतगर्दों ने फौज का प्राइवेट पार्ट काट दिया और साथ ले गये, उन्हें हाथ से शिकायत नहीं थी, सर से नहीं थी, पैर से नहीं थी, जिस्म के जिस हिस्से से शिकायत थी उसे काट कर ले गये, ये इतना बड़ा संदेश है, जिसपर पूरे हिन्दुस्तान को शर्मिंदा होना चाहिए, और सोचना चाहिए कि हम दुनिया को क्या मुंह दिखाएंगे?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here