गुजरात: फिरौती के लिए अपहरण कर 7 साल की बच्ची की बेरहमी से हत्या, BJP नेता सहित तीन गिरफ्तार

0

गुजरात के नडियाद शहर में 25 लाख रुपये की फिरौती के लिए एक सात साल की मासूम बच्ची का अपहरण कर बेरहमी से हत्या करने का दर्दनाक मामला सामने आया है, मृतक बच्ची पिछले 18 सितंबर से लापता थी। पुलिस ने इस मामले में भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) के युवा मोर्चा का सक्रिय सदस्य मीत पटेल(22) सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है, दो आरोपी नाबालिक बताए जा रहे हैं।

गुजरात

पुलिस ने इन तीनों दरिंदों को शुक्रवार(22 सितंबर) को गिरफ्तार किया है। अहमदाबाद मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक, सात साल की मासूम का नाम तान्या था। कुछ दिनों पहले ही मासूम बच्ची ने नडियाद में अपना जन्मदिन मनाया था। पड़ोस में रहने वाला मुख्य आरोपी बीजेपी नेता मीत पटेल ने अपने दो नाबालिग साथियों के साथ मिलकर तान्या का अपहरण किया था।

लेकिन गिरफ्तारी की डर से तीन हैवानों ने मासूम की बेरहमी से हत्या कर दी। पुलिस के मुताबिक, हत्या का मुख्य आरोपी मीत पटेल पीड़ित परिवार का पड़ोसी ही है। मीत पटेल कर्ज में डूबा हुआ था जिस वजह से वह काफी परेशान था।उसे पता था कि तान्या का परिवार एनआरआई (ब्रिटेन में रहते हैं) है, तान्या अपनी दादी कुसुम पटेल के साथ नडियाद में रहती थी।

इसी वजह से उसने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर तान्या का अपहरण कर उसके परिवार से फिरौती मांगने का प्लान बनाया। 25 लाख की मांगी फिरौती जिसके बाद बीजेपी नेता मीत पटेल ने अपने दो नाबालिक साथियों के साथ मिलकर 18 तारीख को मासूम तान्या का अपहरण कर लिया और तान्या के परिवार से 25 लाख रुपये की फिरौती की मांग की।

लेकिन जैसे ही तान्या की अपहरण की खबर सोशल मीडिया पर वायरल हुई, तीनों आरोपी डर गए और उन्होंने मासूम की 45 मिनट के अंदर बेरहमी से हत्या कर उसकी शव को नदी के किनारे फेंक दिए। हैवानों ने मासूम के हाथ-पैर तक काट डाले हैं। बीजेपी नेता ने शुरू में पुलिस को बनाया बेवकूफ पुलिस के मुताबिक, शुरुआत में तो बीजेपी नेता मीत पटेल खुद पुलिस के साथ मासूम को ढूंढने में पुलिस की मदद करने का ढोंग कर रहा था।

सूत्रों के मुताबिक, गिरफ्तारी के बाद बीजेपी नेता सहित तीनों हैवानों के अपना जुर्म कबूल कर लिया है। पुलिस ने मासूम का शव एक नदी के पास से बरामद कर लिया है। 12वीं पढ़ते हैं दोनों नाबालिक आरोपी बीजेपी युवा नेता मीत पटेल पर पहले से ही कई मामले दर्ज हैं।

दो अन्य आरोपी नाबालिग हैं, जो एक किराए के घर में रहते हैं और अभी कक्षा 12 में पढ़ाई करते हैं। बीजेपी नेता ने इन दोनों नाबालिक आरोपियों को पैसे का लालच देकर तान्या का अपहरण किया था। बता दें कि गुजरात में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं, जिसमें विपक्षी पार्टियां इस मुद्दे को हथियार के तौर पर इस्तेमाल कर सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here