योगी आदित्यनाथ के नोएडा दौरे का जल्द दिखेगा असर- अखिलेश यादव

0

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश की सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार को लोगों को बेवकूफ बनाने के बजाए केंद्र से अपने बजट में प्रदेश के लिए बड़ी परियोजनाओं के लिए राशि की मांग करनी चाहिए।

अखिलेश यादव
photo- Khabar NonStop

न्यूज़ एजेंसी भाषा की ख़बर के मुताबिक, उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार प्रदेश की जनता को केवल बेवकूफ बना रही है। सरकार को बिना समय गंवाए केंद्र से अपने वार्षिक बजट में लखन में बुलेट ट्रेन जैसी बड़ी परियोजनाएं शुरू करने के लिए राशि आवंटित करने की मांग रखनी चाहिए।

रविवार(7 जनवरी) को यूपी की राजधानी लखनऊ में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि, बुलेट ट्रेन, लखन-आगरा एक्सप्रेस वे के साथ चलाई जा सकती है। साथ ही उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में वह समाजवादी पार्टी को राष्ट्रीय पार्टी के रूप में स्थापित करने का प्रयास करेंगे। पार्टी को मजबूत करने के लिए वह रथयात्रा भी निकालेंगे।

समान विचारधारा वाले दलों के साथ ईवीएम मुद्दे पर हुई बैठक के बारे उन्होंने बताया कि, लोकसभा चुनाव से पहले गोरखपुर और फूलपुर में होने वाले उपचुनाव में मतपत्र का इस्तेमाल होना चाहिए और इन दोनों स्थानों पर मतपत्रों से चुनाव होना चाहिए।

आने वाले समय में अन्य दलों के साथ गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस मामले पर अन्य दलों के साथ विचार विमर्श होगा।

भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, पार्टी के संरक्षक एवं पिता मुलायम सिंह यादव द्वारा मैनपुरी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की घोषणा के बारे में पूछे जाने पर अखिलेश ने कहा, पार्टी उनके मुलायम के पीछे है, वह जहां से चाहें चुनाव लड़ सकते हैं।

मैनपुरी के वर्तमान सांसद तेज प्रताप के बारे में मैं जानता हूं कि उन्हें कहां से चुनाव लड़ना है। अखिलेश के परिवार के ही सदस्य तेज प्रताप वर्तमान समय में मैनपुरी से सांसद हैं।

स्कूली बच्चों को अब तक स्वेटर नहीं बांटे जाने, जनेर मिश्र पार्क में प्रवेश शुल्क लगाए जाने तथा आगरा एक्सप्रेस वे पर टोल टैक्स लिए जाने के मुद्दे को लेकर भी अखिलेश ने बीजेपी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अगर हमारी सरकार बनी तो हम आगरा एक्सप्रेस वे पर 20 लाख रुपये से कम कीमत वाले वाहनों पर टोल टैक्स नहीं लगाएंगे।

नवभारत टाइम्स की ख़बर के मुताबिक, प्रेस कॉन्फ्रेंस में अखिलेश यादव ने कुछ दिनों पहले कथित अंधविश्वास तोड़ते हुए नोएडा जाने वाले सीएम योगी आदित्यनाथ पर चुटकी भी ली। उन्होंने कहा कि इसका असर अब जल्द ही दिखेगा।

अखिलेश ने कहा कि, कभी-कभी भगवान भी अच्छा काम करते हैं। हमें नोएडा मेट्रो के उद्घाटन में नहीं बुलाया गया।हालांकि, सीएम साहब नोएडा गए तो लेकिन हमने तस्वीर में देखा कि ना वो बटन दबा सके ना मेट्रो को हरी झंडी दिखा पाए। हम तो यही कहेंगे कि नोएडा जाने पर यही होता है और अभी नोएडा का असर दिखना बाकी है।

हालांकि, मेट्रो के उद्घाटन के दौरान योगी आदित्यनाथ इस मिथक को तोड़ते दिखे और पीएम नरेंद्र मोदी ने भी इसकी सार्वजनिक रूप से प्रशंसा की थी।

गौरतलब है कि, 25 दिसंबर को सीएम योगी ने नोएडा आकर तथाकथित अंधविश्वास को तोड़ा था। जब वह पीएम मोदी के साथ 25 दिसंबर को नोएडा कालका जी मेट्रो लाइन का उदघाटन करने वहां पहुंचे थे। नोएडा के बारे में ऐसा अंधविश्वास है कि जिस मुख्यमंत्री ने नोएडा का दौरा किया, उसकी सत्ता चली गई और वह फिर सत्ता में वापिस नही आया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here