उत्तर प्रदेश में महिलाएं सुरक्षित नहीं! कानपुर में SBI की महिला कर्मचारी के साथ कथित रूप से बर्बरता; ट्विटर पर ट्रेंड हुआ #JusticeForChetnaYadav

0

उत्तर प्रदेश के कानपुर में भारतीय स्टेट बैंक (SBI) की एक महिला अधिकारी का कथित तौर पर यौन हमला किया गया और उसके साथ बर्बरता की गई। इस घटना ने इस बार फिर से प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर कई सवाल खड़े कर दिए है। इस बीच, पीड़ित महिला के पति ने अपनी पत्नी की आपबीती शेयर करने के लिए सोशल मीडिया पर अपना एक वीडियो जारी किया है। वहीं, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने राज्य में युवाओं के अधिकारों की रक्षा करने का संकल्प लिया है।

उत्तर प्रदेश

चेतना यादव के रूप में पहचानी जाने वाली महिला एसबीआई की सरसौल शाखा में लिपिक कर्मचारी के रूप में काम करती थी। पीड़िता के पति पवन के अनुसार, देर शाम ऑफिस की शिफ्ट खत्म होने के बाद एक अज्ञात व्यक्ति ने उसे अपनी मोटरसाइकिल से घर छोड़ने का ऑफर दिया। लेकिन, उस शख्स ने उसे धोखा दिया।

पवन ने कहा कि जिस दिन उस पर हमला किया गया था, वह शाम को लगभग 6.30 बजे बैंक से निकली थी। पवन ने कहा कि उसकी पत्नी पवन ने पहले इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया था, जब उस व्यक्ति ने कहा कि वह उसे उसके घर छोड़ देगा। चेतना यादव को कथित तौर पर एक अज्ञात स्थान पर ले जाया गया, जहां उस व्यक्ति ने उसका सारा कीमती सामान लेकर भागने से पहले उसका यौन उत्पीड़न करने की कोशिश की।

पवन ने कहा, “उस आदमी ने मेरी पत्नी को रमादेवी छोड़ने की पेशकश की, लेकिन मेरी पत्नी ने मना कर दिया और पहले स्थान पर छोड़ने पर जोर दिया। लेकिन उसने बाइक चलाना जारी रखा और उसने महाराजपुर में गाड़ी रोक दी, जो एक सुनसान जगह थी। इसके बाद उस ने क्रूर हमला किया। जिस कारण उसे गंभीर चोटें आई हैं। उस आदमी ने मेरी पत्नी का यौन उत्पीड़न करने की भी कोशिश की।”

इस बीच, शनिवार की रात से ही ट्विटर पर हैशटैग #JusticeForChetnaYadav ट्रेंड कर रहा है और यूजर्स ने बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधा है। यूजर्स आरोपी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे है।

इस बीच, आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश में युवाओं के अधिकारों की रक्षा का वादा करने वाले अपने ट्वीट के लिए सोशल मीडिया पर आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। इसके बाद उन्होंने हिंदी में एक ट्वीट किया, “प्रदेश के युवाओं के साथ जो भी खिलवाड़ करेगा, उसकी जगह जेल होगी।”

गौरतलब है कि, उत्तर प्रदेश की योगी सरकार भले ही महिलाओं की सुरक्षा को लेकर लाख दावे करती हो, लेकिन हकीकत इससे काफी दूर है। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था सवालों के घेरे में है। राज्य से रोज मासूम बच्चियों और महिलाएं से रेप व छेड़छाड़ की कोई न कोई घटनाएं सामने आती ही रहती है, जो चीख-चीखकर बता रही हैं कि यूपी में महिलाएं कहीं भी सुरक्षित नहीं है।

[Please join our Telegram group to stay up to date about news items published by Janta Ka Reporter]

Previous articleदिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के फैंस ने की रणवीर सिंह की फिल्म 83 को बायकॉट करने की मांग, ट्विटर पर ट्रेंड हुआ #Boycott83
Next articleसलमान खान को पनवेल स्थित उनके फॉर्म हाउस पर सांप ने काटा, इलाज के बाद अस्पताल से मिली छुट्टी