‘भारत समाचार’ पर छापेमारी: इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट का दावा- 3 करोड़ रुपये से अधिक नकद राशि और 16 लॉकर को किया गया जब्त, 200 करोड़ रुपये का ‘बिना हिसाब के लेनदेन’ हुआ

0

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने शनिवार को दावा किया कि लखनऊ के हिंदी समाचार चैनल ‘भारत समाचार’ एवं उससे जुड़े व्यवसाय पर इस हफ्ते की शुरुआत में छापेमारी के बाद जब्त दस्तावेजों और डिजिटल रिकॉर्ड से पता चलता है कि करीब 200 करोड़ रुपये का ‘‘बिना हिसाब का’’ लेनदेन हुआ।

भारत समाचार

समाचार एजेंसी पीटीआई (भाषा) की रिपोर्ट के मुताबिक, छापेमारी 22 जुलाई को लखनऊ, बस्ती, वाराणसी, जौनपुर और कोलकाता में तथा प्रधान संपादक ब्रजेश मिश्रा, राज्य प्रमुख वीरेंद्र सिंह, उत्तर प्रदेश के हरैया (बस्ती जिला) विधानसभा सीट से भाजपा विधायक अजय सिंह एवं कुछ अन्य के आवासीय परिसरों पर हुई थी।

सीबीडीटी ने बयान में समूह की पहचान उजागर नहीं की और कहा कि समाचार के अलावा यह समूह खनन, आवभगत, शराब और रियल इस्टेट का भी व्यवसाय करता है। अधिकारियों ने इसे भारत समाचार पर छापेमारी से जुड़ा मामला बताया।

सीबीडीटी ने दावा किया, ‘‘तीन करोड़ रुपये से अधिक नकद राशि बरामद की गई और 16 लॉकर को जब्त किया गया है। डिजिटल रिकॉर्ड सहित दस्तावेजों से पता चलता है कि करीब 200 करोड़ रुपये का अघोषित लेनदेन हुआ।’’

छापेमारी के बाद मिश्रा ने कहा था कि वे कर का भुगतान करने वाले नागरिक हैं और वे पिछले दो दशक से बकाया कर का भुगतान करते रहे हैं।

सीबीडीटी के बयान में दावा किया गया कि छापेमारी के दौरान साक्ष्यों से पता चलता है कि यह व्यावसायिक समूह खनन, प्रसंस्करण और शराब, रियल एस्टेट आदि के माध्यम से काफी बेनामी आय अर्जित कर रहा है। छापेमारी में पता चला कि कोलकाता में बनी 15 से अधिक कंपनियां ‘‘अस्तित्व में ही नहीं हैं।’’

Previous articleपंजाब के बाद अब राजस्थान कांग्रेस में हलचल तेज, मंत्रिमंडल विस्तार व राजनीतिक नियुक्तियों की अटकलें
Next articleराजस्थान: 10वीं कक्षा की छात्रा को अश्लील वीडियो भेजने के आरोप में अध्यापक गिरफ्तार