अमरनाथ हमले को लेकर उद्धव ठाकरे ने कहा- गौरक्षकों को आतंकवादियों का सामना करना चाहिए

0

अमरनाथ तीर्थयात्रियों पर आतंकवादी हमले को लेकर भाजपा पर निशाना साधते हुए शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने मंगलवार (11 जुलाई) को अपनी पार्टी के वरिष्ठ सहयोगी दल को घाटी में आतंकवादियों से लड़ने के लिये ”गोरक्षकों” को भेजने को कहा।

दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में एक बस पर हुए आतंकवादी हमले में छह महिलाओं समेत सात अमरनाथ तीर्थयात्री मारे गए थे और 19 अन्य घायल हुए थे। मृतकों में से पांच गुजरात के रहने वाले थे जबकि दो महाराष्ट्र के है। आगामी त्योहार के लिये विभिन्न गणेश मंडलों के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए उद्धव ने कहा, ””वे (भाजपा) कहा करते थे कि खेल, संस्कृति आदि को राजनैतिक मुद्दों में नहीं लाया जाए।

Also Read:  हरियाणाः सोनीपत सीरियल ब्लास्ट के दोषी अब्दुल करीम टुंडा को उम्रकैद की सजा

आज आतंकवादी हमले के रूप में धर्म और राजनीति साथ आ गई है। क्या हमें समझना चाहिये कि अगर उनके थैले में हथियारों की जगह गाय का मांस होता तो उन आतंकवादियों में से कोई भी जीवित नहीं होता। साथ ही उन्होंने कहा कि, ”गोरक्षकों” का मुद्दा आज उठ रहा है। क्यों आप इन गोरक्षकों को आतंकवादियों से लड़ने के लिये नहीं भेजते हो।

Also Read:  शिवराज सिंह चौहान ने पीएम मोदी की तारीफ के बांधे पुल कहा- '56 इंच का सीना' अब 100 इंच का हो गया है

आगे उन्होंने कहा, ”अगर भाजपा सरकार कश्मीर घाटी में उनके मुद्दों का समाधान करने के लिये अलगाववादियों से बातचीत कर सकती है तो वे निश्चित तौर पर धूमधाम से गणेशोत्सव मनाने के उत्सुक लोगों के साथ बातचीत कर सकते हैं।” उन्होंने देवेंद्र फडणवीस सरकार से त्योहारों के दौरान शोर के स्तर पर बंबई उच्च न्यायालय द्वारा लगाई गई पाबंदियों के खिलाफ अध्यादेश लाने का अनुरोध किया।

Also Read:  पहले सिद्धू ने भाजपा से और अब परगट सिंह ने अकाली दल से नाता तोडा, लेकिन किस पार्टी में जायेंगे?

गौरतलब है कि, अमरनाथ यात्रियों से भरी जिस बस पर आतंकियों ने हमला किया, उसके ड्राइवर सलीम शेख की बहादुरी के चर्चे अब हर जगह हैं। क्योंकि हमले के बाद सलीम ने दिलेरी और जांबाजी दिखाते हुए तब तक बस को चलाना जारी रखा, जब तक बस आतंकियों की पहुंच से दूर नहीं हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here