प्रणय रॉय के घर CBI की छापेमारी पर NDTV ने कहा- बोलने की आजादी को कमजोर करने वालों के खिलाफ चुप नहीं बैठेंगे

0

वरिष्ठ पत्रकार और न्यूज चैनल NDTV के सह-संस्थापक और कार्यकारी सह-अध्यक्ष प्रणय रॉय के आवास पर सोमवार(5 जून) को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने छापा मारा है। CBI ने इस बात की पुष्टि की है कि NDTV के सह-संस्थापक और को-चेयरपर्सन प्रणय रॉय के दिल्ली स्थित घर पर छापेमारी चल रही है।

फोटो: NDTV

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, वरिष्ठ पत्रकार प्रणय रॉय और उनकी पत्नी राधिका रॉय पर फंड डायवर्जन तथा बैंक से धोखाधड़ी का आरोप है। रिपोर्ट के मुताबिक, CBI सूत्रों ने कहा कि प्रणय रॉय, राधिका रॉय और आरआरपीआर होल्डिंग्स के खिलाफ एक प्राइवेट कंपनी और आईसीआईसीआई बैंक को कथित तौर पर 48 करोड़ रुपये का नुकसान पहुंचाने के आरोप में केस दर्ज किया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, एनडीटीवी बैंक लोन का डिफॉल्टर है। बताया जा रहा है कि इस ग्रुप ने 42 करोड़ का लोन किसी कंपनी के जरिए आईसीआईसीआई बैंक से लिया था। इस मामले में सीबीआई प्रणय रॉय और उनकी पत्नी राधिका रॉय से पूछताछ कर रही है।

सीबीआई ने बताया कि इसी मामले को लेकर सोमवार(5 जून) को प्रणय रॉय के दिल्ली और देहरादून सहित चार स्थानों पर छापेमारी चल रही है। वहीं, प्रणय रॉय के घर छापेमारी को लेकर भारतीय जनता पार्टी(BJP) के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि कानून का डर जरूरी है, और ये सब पर लागू होना चाहिए फिर चारे आप कोई भी हो।

वहीं, रॉय के आवास पर सीबीआई की छापेमारी पर केंद्रीय मंत्री वैंकेया नायडू ने कहा कि ये सरकार हस्तक्षेप करने में विश्वास नहीं रखती, CBI के पास कुछ जानकारी होगी तभी उन्होंने ये फैसला लिया है। जबकि, कांग्रेस नेता ऑस्कर फर्नांडीज ने कहा कि आप जानते हैं क्या चल रहा है देश में, आप(मीडिया) को निर्णय लेना है क्या करना है।

बता दें कि इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय ने फेमा प्रावधानों का उल्लंघन करने के आरोप में एनडीटीवी के खिलाफ 2,030 करोड़ रुपये का नोटिस जारी किया था। ईडी का ये नोटिस प्रणय रॉय, राधिका रॉय और सीनियर एग्जीक्यूटिंव केवीएल नारायण राव के खिलाफ जारी किया गया था।

NDTV ने लगाया बदले की कार्रवाई का आरोप

CBI की इस छापेमारी को NDTV ने बदले की कार्रवाई का आरोप लगाया है। NDTV ने अपनी वेबसाइट पर एक बयान जारी कर कहा कि CBI ने NDTV और उसके प्रमोटर्स को झूठे और पुराने आधारहीन आरोपों को लेकर आज सुबह निशाना बनाया। कई एजेंसियों द्वारा निशाना बनाए जाने के खिलाफ एनडीटीवी और उसके प्रमोटर अंत तक लड़ेंगे।

NDTV ने बयान में आगे कहा कि भारत के लोकतंत्र और बोलने की आजादी को कमजोर करने की इन कोशिशों के खिलाफ हम चुप नहीं बैठेंगे। भारत के संस्थानों को बर्बाद करने की कोशिश करने वालों के लिए हमारे पर एक संदेश है और वो ये है कि हम अपने देश के लिए लड़ेंगे और इन शक्तियों पर जीत हासिल करेंगे।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here