पढ़ें, क्यों बिना बोले नाराज होकर कार्यक्रम छोड़ चले गए BJP नेता सुब्रमण्यम स्वामी

0

भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी गुरुवार(20 अप्रैल) को दिल्ली के एक कार्यक्रम में बिना बोले ही चले गए, क्योंकि वह अपने सत्र की शुरूआत होने में विलंब होने की वजह से नाराज हो गए। राज्यसभा सदस्य स्वामी हीरो समूह की ओर से आयोजित ‘माइंडमाइन समिट’ में बोलने पहुंचे थे। वह इस कार्यक्रम के एक सत्र को संबोधित करने वाले थे।स्वामी के सत्र से पहले के सत्र को वाणिज्य एवं उद्योग राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) निर्मला सीतारमण ने संबोधित किया और इसे स्वामी ने भी देखा। दरअसल, स्वामी को दिन में दो बजे बोलना था, लेकिन लगता है कि विलंब होने की वजह से वह नाराज हो गए और कार्यक्रम छोड़कर चले गए। आयोजकों ने स्वामी को मनाने का प्रयास किया, लेकिन वह निकल गए। इसके बाद उनके सत्र को रद्द कर दिया गया।

माइंडमाइन समिट के 11वां संस्करण के दो दिवसीय सम्मेलन के पहले दिन ‘अवरोध-भारत के लिए नई सामान्य चीज?’ विषय पर परिचर्चा में वरिष्ठ मंत्री, उद्योगपति और विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञ शामिल हुए। इस दौरान हीरो एंटरप्राइज के अध्यक्ष सुनील कांत मुंजाल ने इंपैक्ट इनवेस्टिंग के क्षेत्र में आविष्कार भारत फंड में 100 करोड़ रुपये का निवेश करने की घोषणा की।

हीरो एंटरप्राइजेज द्वारा स्थापित स्वतंत्र थिंक टैंक माइंडमाइन इंस्टिट्यूट द्वारा आयोजित विचार मंच माइंडमाइन समिट में शामिल हुए केंद्रीय शहरी विकास, आवास एवं शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्री वेंकैया नायडू ने नोटबंदी पर बोलते हुए कहा कि नोटबंदी भ्रष्टाचार के खिलाफ एक लड़ाई है, वित्तीय लेनदेन का डिजिटाइजेशन इससे सुनिश्चित हुआ है। जीएसटी एकल कर प्रणाली का एक क्रांतिकारी क्रियान्वयन है।