मन की बात: पीएम मोदी ने कहा, ‘हमारे वैज्ञानिकों ने विश्व के सामने भारत का सर गर्व से ऊंचा किया’

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एक बार फिर से (26 फरवरी) को रेडियो पर ‘मन की बात’ के जरिए देश की जनता को संबोधित किया। इस बार कार्यक्रम के शुरुआत में पीएम मोदी ने सबसे पहले बदलते मौसम का जिक्र किया। बता दें कि, यह पीएम मोदी की ‘मन की बात’ का 29वां संबोधन था।

मन की बात

पीएम मोदी ने कार्यक्रम में भारतीय वैज्ञानिक समुदाय की उपलब्धियों को रेखांकित करते हुए कहा कि 15 फ़रवरी, 2017 भारत के जीवन में बेहद गौरवपूर्ण दिवस के रूप में याद किया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि इस दिन हमारे वैज्ञानिकों ने विश्व के सामने भारत का सर गर्व से ऊँचा किया है। ISRO ने कई अभूतपूर्व मिशन सफलतापूर्वक पूर्ण किए हैं, ‘मंगलयान’ भेजने के बाद पिछले दिनों इसरो ने विश्व रिकॉर्ड बनाया। इसरो ने मेगा मिशन के ज़रिये एक साथ विभिन्न देशों के 104 उपग्रह अन्तरिक्ष में सफलतापूर्वक लांच किए हैं। 104 उपग्रह को अंतरिक्ष में भेजकर इतिहास रचने वाला भारत दुनिया का पहला देश बना और यह लगातार 38वाँ पीएसएलवी का सफल लांच है।

इंटरसेप्‍टर टेक्‍नोलॉजी वाले इस मिसाइल ने ट्रायल के दौरान ज़मीन से 100 कि.मी. की ऊँचाई पर दुश्मन की मिसाइल को ढेर कर सफलता पाई। दुनिया के चार या पाँच ही देश हैं कि जिन्हें ये महारत हासिल है, भारत के वैज्ञानिकों ने ये करके दिखाया। इसकी ताक़त है कि 2000 किमी दूर से भी भारत पर आक्रमण के लिये मिसाइल आती है तो ये मिसाइल अंतरिक्ष में ही उसको नष्ट कर देती है। हमारी युवा-पीढ़ी का विज्ञान के प्रति आकर्षण बढ़ना चाहिए, देश को बहुत सारे वैज्ञानिकों की ज़रूरत है। नीति आयोग एवं भारत के विदेश मंत्रालय ने 14वें प्रवासी भारतीय दिवस के समय एक बड़ी विशिष्‍ट प्रकार की प्रतिस्‍पर्द्धा की योजना की थी।

मोदी ने डिजिधन योजनाओं का भी जिक्र किया। मोदी ने बताया कि उसमें व्यापारी, किसान, घरेलू महिलाओं को पुरस्कार दिया जा रहा है। इसके अलावा मोदी ने युवाओं से आग्रह किया कि वे लोगों को जाकर BHIM ऐप के बारे में सिखाएं। ब्लाइंड टी-20 में भारतीय टीम के जीतने पर मोदी ने उन लोगों समेत देशवासियों को बधाई दी। मोदी ने एशियाई रग्बी ट्राफी में महिलाओं ने रजत पदक जीता था। मोदी ने उनको भी बधाई दी। मोदी ने आठ मार्च को मनाए जाने वाले ‘महिला दिवस’ का भी जिक्र किया। मोदी ने कहा, ‘महिला, वो शक्ति है, सशक्त है, वो भारत की नारी है, ना ज्यादा में, ना कम में, वह सब में बराबर की अधिकारी है।’

साथ ही पीेएम मोदी ने कहा कि, हमारा समाज टेक्‍नोलॉजी की तरफ उन्‍मुख हो रहा है। व्यवस्थायें टेक्‍नोलॉजी पर आधारित हो रही हैं। तकनीक हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन रही है। ‘डिजि-धन’ पर ज़ोर दिया जा रहा है, लोग नकद से डिजिटल करेंसी की तरफ बढ़ रहे हैं, भारत में डिजिटल ट्रांजेक्‍शन तेजी से बढ़ रहा है। 14 अप्रैल को डॉ. बाबा साहेब अम्बेडकर की जन्म-जयंती का पर्व है और अभी-अभी बाबा साहेब अम्बेडकर की 125वीं जयंती गई है। उनका स्मरण करते हुए लोगों को भीम ऐप डाउनलोड करना सिखाएं। उससे लेन-देन कैसे होती है, वो सिखाएँ और ख़ास करके आस-पास के छोटे-छोटे व्यापारियों को सिखाएं।

हमारे देश की अर्थव्यवस्था के मूल में कृषि का बहुत बड़ा योगदान है। गांव की आर्थिक ताक़त, देश की आर्थिक गति को ताक़त देती है। किसानों के परिश्रम से इस वर्ष रिकॉर्ड अन्न उत्पादन हुआ है, इस वर्ष देश में लगभग 2 हज़ार 700 लाख टन से भी ज्यादा खाद्यान्न का उत्पादन हुआ है। किसान परंपरागत फ़सलों के साथ-साथ देश के ग़रीब को ध्यान में रखते हुए अलग-अलग दालों की भी खेती करें क्योंकि दाल से ही सबसे ज़्यादा प्रोटीन ग़रीब को प्राप्त होता है।

रियो पैरालिंपिक्‍स में हमारे दिव्यांग खिलाड़ियों ने जो प्रदर्शन किया, हम सबने उसका स्वागत किया था। वर्ल्‍ड कप के फाइनल में भारत ने पाकिस्तान को हराते हुए लगातार दूसरी बार वर्ल्‍ड चैंपियन बन करके देश का गौरव बढ़ाया।
दिव्यांग भाई-बहन सामर्थ्यवान,दृढ़-निश्चयी होते हैं,साहसिक होते हैं,संकल्पवान होते हैं, हर पल हमें उनसे कुछ-न-कुछ सीखने को मिल सकता है। पीएम मोदी ने कहा कि, देश का कोई भी नागरिक जब कुछ अच्छा करता है, तो पूरा देश एक नई ऊर्जा का अनुभव करता है, आत्मविश्वास को बढ़ाता है। इसके साथ ही उन्‍होंने कहा कि खेल हो या अंतरिक्ष विज्ञान महिलायें किसी से पीछे नहीं हैं, एशियाई रग्‍बी सेवेंस ट्रॉफी में हमारी हमारी महिला खिलाड़ियों ने सिल्‍वर मेडल जीता।

बता दें कि, इससे पहले उन्होंने 29 जनवरी को मन की बात की थी। उस कार्यक्रम में मोदी ने बोर्ड एग्जाम की बात की थी। मोदी ने कहा था कि बच्चों को खुश रहकर अच्छे से मेहनत करनी चाहिए। मोदी ने कहा था कि स्टूडेंट्स को ज्यादा मुस्कुराना चाहिए जिससे वे अच्छे नंबर ला सकें। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की वजह से केंद्र को कार्यक्रम को दिखाने से पहले चुनाव आयोग से इजाजत लेनी पड़ती है। चुनाव आयोग ने इस शर्त पर इजाजत दी है कि पीएम मोदी इस तरह की कोई बात नहीं करेंगे जिससे चुनाव वाली जगहों पर असर पड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here