झारखंड: PM मोदी की अपील हुई बेअसर, गौमांस को लेकर हत्याओं का सिलसिला जारी

0

कथित गोरक्षकों के भेष में हिंदुत्व आतंकियों ने का उत्पात थमने का नाम नहीं ले रहा है। अभी बल्लभगढ़ निवासी मुसलमान युवक जुनैद खान की पीट-पीटकर हत्या का मामला अभी ठंडा ही हुआ कि अब झारखंड के रामगढ़ में प्रतिबंधित मांस ले जाने के आरोप में गुरुवार(29 जून) को एक शख्स की लोगों ने जमकर पिटाई कर दी। जिससे अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ,इसके साथ ही उग्र लोगों ने शख्स की गाड़ी में भी आग लगा दी काफी देर बाद दमकलकर्मियों ने आग पर काबू पाया। प्रभात ख़बर के मुताबिक, मृतक का नाम अलीमुद्दीन उर्फ असगर अली बताया जा रहा है और वह असगर अली मनुआ का रहने वाला है। तनाव की स्थिति को देखते हुए पूरे शहर में चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात कर दी गई है। वहीं, एसपी, डीएसपी व एसडीओ घटना की निगरानी कर रहे हैँ।

बता दें कि, इससे पहले झारखंड के गिरीडीह जिले में मंगलवार(27 जून) को गोरक्षकों के उत्पात का नया मामला सामने आया है था, जहां एक मुस्लिम शख्स के घर के बाहर कथित तौर पर मृत गाय मिलने पर भीड़ ने उसके मकान को आग के हवाले कर दिया।

photo- prabhat khabar

बता दें कि मुसलमानों के खिलाफ बढ़ती हिंसा को लेकर भारतीय मुसलमान गुस्से में हैं। इससे पहले दिल्ली से मथुरा जा रही ईएमयू ट्रेन में मामूली विवाद के बाद गुरुवार(22 जून) को हरियाणा के बल्लभगढ़ निवासी मुसलमान युवक जुनैद खान की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई।

गौरतलब है कि, गुजरात के दौरे पर गए गुरुवार(29 जून) को पीएम मोदी ने कहा कि, ‘गो भक्ति के नाम पर लोगों को मारना स्वीकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी और विनोबा भावे से ज्यादा किसी ने गोरक्षा की बात नहीं की महात्मा गांधी भी आज होते तो इसके खिलाफ होते। यह रास्ता बापू का नहीं हो सकता, विनोबा का संदेश यह नहीं है।

साथ ही उन्होंने कहा कि, अगर किसी ने गलत किया है तो कानून उसके खिलाफ काम करेगा, देश में किसी भी व्यक्ति को कानून अपने हाथ में लेने का हक नहीं है। हिंसा किसी चीज का समाधान नहीं है। पीएम मोदी ने कहा कि गोरक्षा के नाम पर हिंसा बंद होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि देश को अहिंसा के रास्ते पर चलना होगा। मोदी ने कहा कि देश के मौजूदा हालात पर दुख हो रहा है। पीएम ने कहा कि गोरक्षा के नाम पर किसी की हत्या करना स्वीकार्य नहीं है, गांधी और विनोबा से गोरक्षा करना सीखें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here