सोशल मीडिया पर BJP को पटखनी दे चुकी कांग्रेस देख रही है गुजरात में सत्ता का ख्वाब, पढ़ें- इस विश्वास के पीछे क्या है तर्क और तथ्य?

0

गुजरात विधानसभा चुनाव जितना करीब आ रहा है, राज्य में राजनीतिक गहमा-गहमी उतनी ही तेज होती जा रहीं है। एक तरफ राज्य में सत्ता बरकरार रखने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह सहित तमाम बीजेपी के दिग्गज नेता और केंद्रीय मंत्री एड़ी-चोटी का जोर लगा दिए हैं। वहीं दूसरी तरफ राज्य में 1990 के बाद विधानसभा में एक भी चुनाव न जीतने वाली गुजरात कांग्रेस अगले महीने होने वाले चुनाव में जीतने के ख्याब देख रही है।दरअसल, सोशल मीडिया पर जिस प्रकार से गुजरात कांग्रेस, बीजेपी के कथित जुमलों पर पलटवार कर रही है इससे  कांग्रेस मानती है कि वह गांधीनगर पहुंचाने वाले रास्ते के करीब पहुंच गई है। इसके अलावा कांग्रेस के इस विश्वास के पीछे कुछ तर्क और तथ्य हैं, जिसे आपको समझना बेहद जरूरी है।

राहुल गांधी के नए अवतार से घबराई BJP

कांग्रेस नेताओं का मानना है कि अगर सोशल मीडिया के लिहाज से देखें तो हाल के दिनों में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी में काफी बदलाव देखने को मिला है। राजनीतिक पंडितों का भी कहना है कि राहुल अब जनता का ध्यान अपनी तरफ खींचने में कामयाब नजर आ रहे हैं। पिछले कुछ महीनों से सोशल मीडिया पर कांग्रेस उपाध्यक्ष की उपस्थिति चर्चा में रहा।

राहुल गांधी जिस तरह गुजरात में चुनावी दौरे के दौरान युवती के साथ सेल्फी लेने में नहीं हिचकिचा रहे और जिस तरह वे ढाबों में जाकर स्थानीय व्यंजनों के चटखारे ले रहे हैं और सबसे बड़ा बदलाव ये है कि वो गुजरात के सारे प्रमुख मंदिरों में मत्था टेक रहे हैं। जिस तरह सोशल मीडिया पर जुमलों पर वार पलटवार हो रहा है, इससे बीजेपी डर गई है।

साथ ही राहुल गांधी के भाषण देने के अंदाज में भी व्यापक रूप से बदलाव देखने को मिल रहा है। यही वजह है कि गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस बड़े ही मजबूती से प्रचार कर रही है। बीजेपी को कुछ भी बोलने का मौका नहीं दे रही है। इतना ही नहीं पहले जो बीजेपी नेता राहुल गांधी के भाषणों का मजाक उड़ाते थे, अब वह उनके सवालों को गंभीरता से लेते हुए जवाब देने के लिए कई मंत्रियों को प्रेस कॉन्फेंस करना पड़ रहा है।

हाल के दिनों में राहुल गांधी के कई ट्वीट को इन दिनों पीएम मोदी से भी ज्यादा रिट्वीट किया जा रहा है। यही वजह है कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार ने 16 नवंबर को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की बदली हुई छवि से डर गए हैं।

गुजरात कांग्रेस का आक्रामक रूप

पिछले कुछ समय से कांग्रेस की सोशल मीडिया की रणनीति बदली हुई और पहले की तुलना में काफी आक्रामक नजर आ रही है। गुजरात में कांग्रेस उसी राह पर जाती नजर आ रही है, जिस रास्ते पर चलकर बीजेपी ने 2014 का चुनाव जीती थी। आपको याद होगा कि लोकसभा चुनाव का प्रचार अभियान, जिसमें बीजेपी ने बड़े पैमाने पर सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया था और ये अभियान पूरे देश में छा गया था। लेकिन सोशल मीडिया के जरिए मीडिया की सुर्खियों में कैसे बने रहना है, ये गुर अब राहुल गांधी या तो खुद सीख गए हैं या फिर अपने उन सलाहकारों के कहने पर आगे बढ़ रहे हैं।

‘विकास गांडो थयो छे’ यानी ‘विकास पागल हो गया है’, जुमला सोशल मीडिया पर इतना वायरल हुआ कि यह दिल्ली तक चर्चित हो गई। इसका कांग्रेस को गुजरात चुनाव प्रचार में काफी फायदा मिल रहा है और वह आक्रामक होकर काम कर रही है। गुजरात कांग्रेस की सोशल मीडिया टीम राहुल द्वारा जीएसटी पर दिए गए भाषणों को नए तरह से रखने का प्रयास कर रही हैं। पिछले दिनों राहुल ने जीएसटी को ‘गब्बर सिंह टैक्स’ बताया था जो कई दिनों तक ट्विटर पर ट्रेंड करता रहा। इससे राहुल की इमेज सुधारने में भी मदद मिली है।

राहुल गांधी के ‘आलू’ वाले बयान का किया भंडाफोड़

गुजरात में चुनावी रैलियां कर रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का पिछले दिनों एक 20 सेकंड का वीडियो बीजेपी समर्थकों द्वारा सोशल मीडिया पर वायरल किया गया। इस वीडियो में राहुल गांधी कह रहे हैं, “ऐसी मशीन लगाउंगा, इस साइड से आलू घुसेगा उस साइड से सोना निकलेगा। इतना पैसा बनेगा कि आपको पता नहीं होगा कि क्या करना है पैसे का।”

राहुल गांधी का मजाक उड़ाने के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेताओं और समर्थकों द्वारा खूब शेयर किया गया।लेकिन वीडियो वायरल होने के फौरन बाद कांग्रेस समर्थकों ने पूरा वीडियो डालकर उसे काउंटर कर दिया जिसमें राहुल गांधी कह रहे हैं कि ये उनका नहीं मोदी जी का कहना है। हकीकत सामने आने के बाद बीजेपी नेता अमित मालवीय और संवित पात्रा को जमकर ट्रोल किया गया।

अमित शाह बोले- सोशल मीडिया पर BJP विरोधी दुष्प्रचार का शिकार न बनें युवा

सोशल मीडिया पर कांग्रेस समर्थकों का आक्रामक रूप देख भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अध्यक्ष अमित शाह ने 10 सितंबर को गुजरात के युवकों से कहा कि सोशल मीडिया पर कांग्रेस की तरफ से चलाए गए बीजपी विरोधी दुष्प्रचार का शिकार नहीं बनें। शाह ने कहा कि मैं युवकों से अपील करता हूं कि बीजेपी विरोधी दुष्प्रचार पर आंख बंदकर विश्वास नहीं करें जो व्हाटएसप्प और फेसबुक पर प्रचारित किया जा रहा हैं।

रोचक बात ये है कि कभी बीजेपी ने इसी तरह से विपक्षी पार्टियों को निशाना बनाना शुरू किया था और अब खुद ही इसका निशाना बन रही है। इतना ही नहीं कांग्रेस का रूख देख अमित शाह के अलावा केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह को भी बीजेपी कार्यकर्ताओं को सोशल मीडिया से दूर रहने की हिदायत देनी पड़ी थी।

‘विकास पागल हो गया’ के नारे से BJP हुई परेशान

गुजरात चुनाव में ‘विकास गांडो थायो छे’ यानि ‘विकास पागल हो गया है’ का नारा कांग्रेस की तरफ से जोर शोर से उठाया जा रहा है। यह नारा काफी हिट भी हो गया है। इस वक्त गुजरात में हर किसी की जुबान पर छा गया है। जब इस स्लोगन को राहुल गांधी ने बोला तो देश भर में यह तेजी से फैल गया। इससे कांग्रेस उपाध्यक्ष की लोकप्रियता में भी उछाल ला दिया। गुजरात कांग्रेस की आईटी सेल का दावा है कि उनके कार्यकर्ताओं ने इस मुहावरे को शुरू किया है।

गुजरात कांग्रेस की आईटी सेल के प्रमुख ने खोला राज

‘जनता का रिपोर्टर’ से बातचीत में गुजरात कांग्रेस की आईटी सेल के प्रमुख रोहन गुप्ता ने कहा कि हमारी सोशल मीडिया टीम में जो भी काम कर रहे हैं उनमें किसी भी पेशेवर आईटी शख्स को पैसे देकर भर्ती नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि हमारे टीम में जो भी कार्यरत वह पार्टी के युवा कार्यकर्ता हैं। गुप्ता ने कहा कि वर्ष 2011 में हमारी टीम सोशल मीडिया पर सक्रिय हुई।

उन्होंने बताया कि इस वक्त करीब दो हजार से अधिक युवा ऑफिस में बैठकर बीजेपी के जुमलों का जवाब देने का काम करती है। साथ ही उन्होंने दावा किया कि इसके अलावा राज्य के सभी जिलों के पदाधिकारियों को मिला दिया जाए तो पूरे गुजरात में करीब 20 हजार वॉलंटियर उनके लिए काम कर रहे हैं। रोहन ने कहा कि हमारी टीम ऐसे मुद्दों को उठाती है जो गुजरात की आम जनता की भावनाओं को छू सके और हमें इसमें काफी सफलता मिली है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here