झारखंड: गोमांस के शक में भीड़ द्वारा की गई पीट-पीटकर हत्या मामले में BJP नेता गिरफ्तार

0

झारखंड के रामगढ़ में तथाकथित गोरक्षकों के हाथों हुई मोहम्मद अलीमुद्दीन अंसारी हत्याकांड में पुलिस ने भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) के मीडिया प्रभारी नित्यानंद महतो को गिरफ्तार किया है। महतो को शनिवार(1 जुलाई) की सुबह पुलिस ने गिरफ्तार किया। जानकारी के मुताबिक, महतो वह खुद को घटना में शामिल नहीं होने की बात जिलाध्यक्ष को बताने प्रखंड कार्यालय के निकट बीजेपी जिला कार्यालय में गए थे। जहां से रामगढ़ पुलिस ने महतो को गिरफ्तार कर लिया।

फोटो: NDTV

बता दें कि रामगढ़ में गुरुवार(29 जून) को गोमांस ले जाने के आरोप में अलीमुद्दीन को बेकाबू भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला। भीड़ ने सुबह साढ़े नौ बजे मनुआ-फुलसराय निवासी अलीमुद्दीन अंसारी को इतना पीटा कि अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई। भीड़ ने उसकी वैन को भी फूंक डाला।

इस मामले में बीजेपी नेता के अलावा अब तक तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। नित्यानंद रामगढ़ बीजेपी यूनिट का मीडिया प्रभारी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, 29 जून को उस भीड़ में बीजेपी नेता भी शामिल था, जिस भीड़ ने मोहम्मद अलीमुद्दीन की हत्या कर दी थी और बस इस शक में कि अलीमुद्दीन की वैन में गोमांस है।

इस हत्या के बाद रामगढ़ में जमकर हंगामा हुआ। शहर में धारा 144 लगानी पड़ी। मामले को सांप्रदायिक रंग देने की भी कोशिश की गई, लेकिन तभी पता चला कि आरोपी और अलीमुद्दीन की पहले से एक-दूसरे को जानते थे और ये मामला आपसी रंजिश का है।

इस मामले में पीड़ित अलीमुद्दीन की पत्नी मरीयम खातून ने 12 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया है। इसमें 9 अब भी पुलिस के गिरफ्त से फरार हैं। वैसे राज्य सरकार ने मामले को बिगड़ता देख मृतक के परिवार को दो लाख के मुआवजे का एलान कर दिया है, लेकिन परिवार कार्रवाई चाहता है।

PM मोदी ने तोड़ी चुप्पी

पीएम मोदी ने जुनैद हत्याकांड और देश भर में भीड़ के द्वारा धर्म के नाम पर हो रही हिंसा को लेकर गुरुवार(29 जून) को चुप्पी तोड़ते हुए बड़ा बयान दिया। पीएम मोदी ने कहा कि मैं देश के वर्तमान माहौल की ओर अपनी पीड़ा व्यक्त करना चाहता हूं और अपनी नाराजगी भी व्यक्त करता हूं। गाय पर बोलते हुए पीएम मोदी भावुक हो गए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि गोरक्षा के नाम पर लोगों की हत्या स्वीकार नहीं है। उनकी टिप्पणी कथित गोरक्षकों द्वारा किए गए हालिया हमलों और विरोध प्रदर्शनों की पृष्ठभूमि में आई है। महात्मा गांधी के गुरू श्रीमद राजचंद्रजी की 150वीं जयंती के मौके पर मोदी ने गुजरात के साबरमती आश्रम में संबोधन के दौरान यह बात कही।

हिंसा की कुछ बड़ी वारदातें

  • 22 जून को बल्लभगढ़ में ट्रेन से सफर कर रहे जुनैद नामक युवक की कथित तौर पर बीफ को लेकर हुए विवाद में हत्या कर दी गई। जबकि उसके दो भाइयों को घायल कर दिया।
  • 30 अप्रैल को असम के नागौन जिले के पास गाय चोरी के आरोप में दो मुस्लिमों की हत्या कर दी।
  • 1 अप्रैल को राजस्थान के अलवर में 50 वर्षीय पहलू खान की गोतस्करी के आरोप में स्वयंभू गोरक्षकों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी गई।
  • 29 जून को प्रतिबंधित मांस ले जाने के आरोप में झारखंड में एक युवक को बेकाबू भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला।भीड़ ने सुबह साढ़े नौ बजे मनुआ-फुलसराय निवासी अलीमुद्दीन अंसारी को इतना पीटा कि अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई।
  • 26 जुलाई 2016 को मंदसौर स्टेशन पर बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने बीफ ले जाने के शक में दो मुस्लिम महिलाओं की बर्बर तरीके से पिटाई की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here