स्वतंत्रता दिवस के मौके पर चंडीगढ़ में छात्रा से रेप को लेकर अलका लांबा ने दिया विवादित बयान

0

मंगलवार(15 अगस्त) को देश में 71वां स्वतंत्रता दिवस बड़े ही धूमधाम से मनाया, लेकिन आज भी हमारे देश की महिलाएं कितनी आजाद है यह शायद कोई नहीं जानता। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर चंडीगढ़ में बच्ची के साथ हुई रेप की घटना पर आम आदमी पार्टी(आप) की विधायक अलका लांबा ने विवादित टिप्पणी की है।

file photo

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि, हर पिता को अपनी बेटी के हाथों खुद के बचाव के लिए तेजधार हथियार देने होंगे ताकि बेटी बलात्कारी के लिंग पर वार कर खुद को बचाए।

साथ ही उन्होंने अपने अगले ट्वीट में लिखा कि, आज एक बार फिर “केंद्र शासित चंडीगढ़” में स्कूल से आज़ादी का जश्न मना कर घर वापिस लौटती एक बेटी का दिन दिहाड़े बलात्कार। बेटी कैसे “बचायें” ?

इतना ही नही अलका ने अपने अगले ट्वीट में लिखा कि,  बेटी कैसे बचाओ? बलात्कार के मामलों की सुनवाई 6 महीनों में पूरी होनी चाहिये आरोप साबित होने पर फांसी नहीं बल्कि लिंग काट कर छोड़ देना चाहिये। बता दें कि, अलका लांबा ने अपने फेसबुक पेज पर भी इस मामले को लेकर अपना गुस्सा जाहिर किया है।

बता दें कि, चंडीगढ़ में 12 साल की स्कूली बच्ची से रेप का मामला सामने आया था। घटना उस वक्त हुई जब बच्ची स्वतंत्रता दिवस का कार्यक्रम अटेंड करके स्कूल से लौट रही थी। ख़बरों के मुताबिक, आरोपी उसे जबरदस्ती पार्क में ले गया और घटना को अंजाम देने के बाद फरार हो गया था। इस ख़बर को लेकर जब ‘जनता का रिपोर्टर’ ने अलका लांबा से संपर्क किया तो उन्होंने हमारे कॉल का कोई जवाब नही दिया।

आपको बता दें कि, इससे पहले हरियाणा बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष के बेटे विकास बराला और उसके साथी द्वारा आईएएस की बेटी का पीछा करने, छेड़छाड़ और अपहरण के प्रयास वाले मामले से सनसनी फैल गई थी। इस तरह चंडीगढ़ में कुछ दिनों के दौरान यह दूसरी बड़ी घटना है जो बेहद ही शर्मनाक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here