“सिर फोड़ दो उनका”: किसानों को लेकर पुलिस को निर्देश देते हरियाणा के IAS अधिकारी आयुष सिन्हा का वीडियो वायरल, लोगों ने की सस्पेंड करने की मांग

0

हरियाणा के करनाल में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को मीटिंग में जाने से रोकने की कोशिश करने वाले किसानों पर पुलिस ने शनिवार को लाठीचार्ज कर दिया था, लाठीचार्ज में कई किसानों के सिर फूटे और खून बहा। पुलिस की इस कार्रवाई का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। लाठीचार्ज के विरोध में किसानों ने प्रदेश के कई जिलों में हाईवे और टोल प्लाजा जाम कर दिए हैं। इस बीच, वायरल एक वीडियो में हरियाणा के IAS अधिकारी आयुष सिन्हा पुलिसकर्मियों को पाठ पढ़ा रहे हैं कि भाजपा नेताओं के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों को “सिर में चोट” लगे। वायरल वीडियो में अधिकारी के बातों की भाजपा सांसद वरुण गांधी सहित कई लोगों ने आलोचना की है।

वायरल वीडियो में करनाल के एसडीएम आयुष सिन्हा पुलिसकर्मियों के एक समूह के सामने खड़े दिखाई दे रहे हैं और उन्हें निर्देश दे रहे हैं कि कोई भी विरोध करने वाला किसान क्षेत्र में एक निश्चित बैरिकेड से आगे न जाए। वह पुलिस को निर्देश देते हुए कहते है, यह बहुत सरल और स्पष्ट है, वह कोई भी हो, चाहे वह कहीं से भी हो, किसी को भी वहां पहुंचने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। हम किसी भी कीमत पर इस रेखा को नहीं टूटने देंगे। बस अपनी लाठी उठाओ और उन्हें जोर से मारो … यह बहुत स्पष्ट है, किसी भी निर्देश की कोई आवश्यकता नहीं है, बस उन्हें जोर से पीटें। अगर मैं यहां एक भी प्रदर्शनकारी को देखता हूं, तो मैं उनके सिर फोड़ते देखना चाहता हूं।

फिर उन्होंने अंत में पुलिस से पूछा, “कोई शक? क्या तुम उन्हें मारोगे?” इसपर पुलिसकर्मियों ने बुलंद आवाज में जवाब देते हुए कहा, “हां सर।” कार्यक्रम स्थल से निकलने से पहले, सिन्हा ने एक बार फिर अपने आदेश को दोहराते हुए पुलिसकर्मियों से कहा, “जो कोई भी इस रेखा का उल्लंघन करता है, उसका सिर फोड़ दिया जाना चाहिए।”

आयुष सिन्हा के इस वीडियो को शेयर करते हुए भाजपा सांसद वरुण गांधी ने ट्वीट किया, “मुझे उम्मीद है कि यह वीडियो एडिट किया गया है और डीएम ने ऐसा नहीं कहा है.. अन्यथा, लोकतांत्रिक भारत में हमारे अपने नागरिकों के साथ ऐसा करना अस्वीकार्य है।”

हरियाणा के वरिष्ठ कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट किया, “CM-Dy CM का करनाल में किसानों पर क़ातिलाना हमला करने का षड्यंत्र ड्यूटी मैजिस्ट्रेट के आदेशों से साफ़ है – जो पुलिस को किसानों का सर फोड़ने और सर पर लाठियाँ बरसाने का आदेश दे रहे हैं। भाजपा-जजपा है “जनरल डायर” सरकार !”

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, “करनाल में किसान आंदोलन से निपटने के लिए ड्यूटी मैजिस्ट्रेट के तुगलकी फ़रमान का प्रत्यक्ष परिणाम! कायर खट्टर सरकार, इसे हल्का बल प्रयोग बता रही है।”

Previous articleBJP सांसद सुब्रमण्यम स्वामी बोले- यदि चीन भारतीय क्षेत्र को खाली नहीं करता तो भारत को युद्ध करना चाहिए
Next articleBhavina Patel hailed for winning historic silver medal at Tokyo Paralympics