गुजरात क्वीन एक्सप्रेस के डिब्बे में लटकी मिला थी 18 वर्षीय छात्रा की लाश, डायरी पढ़ने के बाद गुजरात पुलिस ने जताया रेप का संदेह

0

गुजरात के वलसाड में बीते दिनों एक कॉलेज छात्रा का शव गुजरात क्वीन एक्सप्रेस के कोच में लटका मिला था, जिसके बाद इस मामले की जांच में जुट गई थी। इस बीच, वडोदरा पुलिस ने रविवार को कहा कि उसे संदेह है कि इस महीने की शुरुआत में गुजरात के वलसाड में 18 वर्षीय जिस युवती का शव ट्रेन के डिब्बे में लटका हुआ पाया गया था, उसके साथ उस समय दुष्कर्म हुआ था, जब वह अपने छात्रावास लौट रही थी।

फाइल फोटो

दक्षिणी गुजरात के नवसारी की रहने वाली और वडोदरा में एक गैर-सरकारी संगठन के साथ काम करने वाली कॉलेज की छात्रा का शव चार नवंबर को वलसाड में गुजरात क्वीन एक्सप्रेस के एक डिब्बे में लटका मिला था। जिसके बाद रेलवे पुलिस ने हादसे की वजह से मौत होने का मामला दर्ज किया था। युवती वडोदरा के एक हॉस्टल में रहती थी।

पुलिस ने कहा कि युवती द्वारा लिखी गई एक डायरी के आधार पर यह पता लगाने के लिए जांच शुरू की गई है कि क्या उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया था। डायरी में उसने वडोदरा में एक ऑटो-रिक्शा में दो आरोपी व्यक्तियों द्वारा अपहरण करने, आंखों पर पट्टी बांधकर एक सुनसान जगह पर ले जाने का उल्लेख किया था।

पुलिस महानिरीक्षक-सीआईडी (अपराध एवं रेलवे) सुभाष त्रिवेदी ने संवाददाताओं को बताया कि राज्य सरकार ने इस घटना को गंभीरता से लिया है और अधिकारियों को यह पता लगाने के लिए जांच करने का निर्देश दिया है कि क्या युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ था। उन्होंने अधिकारियों को दोषियों को पकड़ने का निर्देश दिया है।

उन्होंने कहा कि वडोदरा शहर पुलिस, अहमदाबाद शहर की अपराध शाखा, फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला और रेलवे पुलिस के कर्मियों को मिलाकर लगभग 25 अलग-अलग टीम का गठन किया गया है और लगभग 450 सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया है।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि पुलिस कॉल डेटा रिकॉर्ड की भी जांच कर रही है, इलेक्ट्रॉनिक निगरानी कर रही है और अपराधियों को पकड़ने के लिए खुफिया जानकारी का उपयोग कर रही है। त्रिवेदी ने कहा, ‘‘वडोदरा शहर की पुलिस, रेलवे पुलिस, अहमदाबाद शहर की अपराध शाखा, सभी अलग-अलग टीम में मिलकर काम कर रहे हैं और कर्नाटक जैसे अन्य राज्यों में भी जांच की जा रही है।’’ (इंपुट: भाषा के साथ)

[Please join our Telegram group to stay up to date about news items published by Janta Ka Reporter]

Previous articleपश्चिम बंगाल: भाजपा विधायक का भड़काऊ बयान, पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा- आपको डराने वाले टीएमसी नेताओं के हाथ-पैर तोड़ दो
Next articleवायु प्रदूषण पर सुप्रीम कोर्ट ने दिल्‍ली सरकार को लगाई फटकार; केंद्र ने SC से कहा- पराली जलाना दिल्ली में प्रदूषण का प्रमुख कारण नहीं, ये सिर्फ 10% देता है योगदान