राम रहीम को सजा: रामदेव ने बताया धर्म का मतलब, यूजर्स बोले- जेल जाने का अगला नंबर तुम्‍हारा है बाबा

0
Follow us on Google News

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की एक विशेष अदालत ने साध्वी से दुष्कर्म के दो मामलों में दोषी करार दिए गए डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सोमवार(28 अगस्त) को 10-10 साल की सश्रम कैद की सजा सुनाई गई। अब बाबा को 20 साल जेल में रहना होगा, क्योंकि दोनों सजाएं एक के बाद एक चलेंगी। यानी एक सजा पूरी होने के बाद दूसरी शुरू होगी।जेल के साथ ही विशेष सीबीआई जज जगदीप सिंह ने राम रहीम पर दोनों मामलों में 15-15 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है। जुर्माना न अदा करने पर राम रहीम को दो-दो साल की और सश्रम कैद भुगतनी होगी। इनमें से 14-14 लाख रुपये की राशि दोनों पीड़िताओं को दी जाएगी।

हाथ जोड़कर रोने लगा बलात्कारी बाबा

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सुनवाई के दौरान गुरमती राम रहीम हाथ जोड़े खड़ा रहा। जज जगदीप सिंह ने दोनों पक्षों को बहस के लिए 10-10 मिनट का समय दिया था। पहले मामले में सजा का ऐलान होतेे ही राम रहीम फूट-फूटकर रोने लगा था। जब रेप के पहले मामले में उसे 10 साल की सजा सुनाई गई तो दोनों हाथ जोड़कर जमीन पर बैठ गया और माफी की गुहार लगाने लगा। साथ ही अच्छे कामों का हवाला देकर नरमी की मांग भी की थी, लेकिन कोर्ट उससे सहमत नहीं हुआ।

योगगुरु बाबा रामदेव ने दिया बयान

योगगुरु रामदेव ने राम रहीम को 20 साल की सुनाए जाने को एक उदाहरण करार दिया है। सोमवार को मीडिया से बात करते हुए रामदेव ने कहा, ”धर्म के नाम पर अधर्म नहीं होना चाहिए। धर्म तो जीवन का श्रेष्ठ आचरण है। उन्होंने कहा कि ढोंग, आडंबर, पाखंड, हिंसा, क्रूरता, हत्या और बलात्कार को धर्म नहीं कहा जा सकता।”

योग गुरु ने कहा कि, ‘कोर्ट ने जो सजा दी है, 15 साल तक इस पर जांच हुई है। मुझे लगता है कि देर हो सकती है, लेकिन अंधेर नहीं है। न्याय व्यवस्था आज इतनी मजबूत हो चुकी है कि कोई भी व्यक्ति अपराध करके बच नहीं सकता। कोर्ट ने इसका बहुत बड़ा उदाहरण पेश किया है।’

‘धर्म’ का बताया मतलब

इससे पहले बाबा रामदेव ने 25 अगस्त को भी सीबीआई कोर्ट द्वारा राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के बाद ट्वीट कर धर्म का मतलब बताया था। हालांकि, अपने ट्वीट में उन्होंने राम रहीम का सीधे तौर तो जिक्र नहीं किया था, लेकिन उनके ट्वीट को राम रहीम से ही जोड़कर देखा जा रहा है। रामदेव ने ट्विटर पर लिखा, ‘धर्म जीवन का श्रेष्ठ आचरण है। हिंसा, उन्माद , पागलपन, अंधश्रद्धा व पाखण्ड धर्म नहीं है।’

योगगुरु के इस ट्वीट के बाद कई यूजर्स उनपर हमला बोलने लगे। विशांत कुमार नाम के एक यूजर्स ने लिखा, ’जेल जाने का अगला नंबर तुम्हारा ही है आदरणीय रामदेव जी।’ वहीं, विद्यानंद लिखते हैं, ‘भांग पी लिए हो क्या?’ रवि कुमार ने लिखा, ’पहले देश राग, अब व्यापार में मस्त।’ हिमांशू मालवीय लिखते हैं, ‘जय बाबा रामदेव…हम अखंड भारत का सपना देखते हैं।’

रोहित सिंह चौहान ने लिखा, ’बाबा ने अपनी मानसिकता बना रखी है कि वो चाहे बलात्कार ही क्यों ना कर दें। उनके समर्थक उन्हें बचा लेंगे। लेकिन देश की न्यायपालिका अब जाग चुकी है।’ दरअसल, डेरा प्रमुख को रेप मामले में दोषी पाए जाने के बाद सोशल मीडिया पर लोग ‘बाबाओं’ के खिलाफ जमकर नाराजगी व्यक्त कर रहे हैं।

देखिए, लोगों ने कैसे बाबा को निशाने पर लिया:- 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here