अयोध्या विवाद: सुनवाई टलने पर हरियाणा के मंत्री अनिल विज बोले, ‘सुप्रीम कोर्ट महान है, जो चाहे वह करे’

0

अक्सर अपने बयानों को लेकर विवादों में रहने वाले भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के दिग्गज नेता व हरियाणा सरकार के खेल और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने एक बार फिर से ऐसा बयान दिया है जिसकी वजह से वह मीडिया की सुर्खियों में आ गए है।

Express photo by Jasbir Malhi (FILE)

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में सोमवार (29 अक्टूबर) को अयोध्या में जमीन विवाद मामले की एक बार फिर सुनवाई टल गई है। शीर्ष अदालत राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि मालिकाना हक विवाद मामले में दायर दीवानी अपीलों को अगले साल जनवरी के पहले हफ्ते में एक उचित पीठ के सामने सूचीबद्ध किया है जो सुनवाई की तारीख तय करेगी। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई के नेतृत्व वाली तीन सदस्यीय पीठ ने कहा कि उचित पीठ अगले साल जनवरी में सुनवाई की आगे की तारीख तय करेगी।

सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और केंद्र की मोदी सरकार के लिए किसी झटके से कम नहीं है। दरअसल, बीजेपी और अन्य हिंदुत्व समर्थकों को उम्मीद थी कि सुप्रीम कोर्ट अयोध्या मामले पर जनवरी के बजाय इसी समय रोजाना सुनवाई शुरू कर दे, ताकी अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव में आम जनता के सभी मुद्दों को दरकिनार कर राम मंदिर को ही मुख्य मुद्दा बना दिया जाए। हालांकि शीर्ष अदालत ने उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद बीजेपी नेता व हिंदुत्व समर्थक के लोग काफी परेशान नजर आ रहें है। इसी बीच, हरियाणा सरकार के मंत्री अनिल विज ने मंगलवार (30 अक्टूबर) को सुप्रीम कोर्ट पर तंज कसते हुए कहा कि ‘सुप्रीम कोर्ट महान है, जो चाहे करे।’

अनिल विज ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट महान है, जो चाहे वह करे। चाहे याकूब मेनन के लिए रात के 12 बजे सुप्रीम कोर्ट को खोले और चाहे जो राम मंदिर का विषय है जिस पर करोड़ों लोग टक-टकी लगाकर देख रहे हैं, उसको तारीख पर तारीख मिले। यह तो सुप्रीम कोर्ट की मर्जी है, महान है सुप्रीम कोर्ट।’

Previous articleछत्तीसगढ़ः दंतेवाड़ा में नक्सली हमले में दूरदर्शन के कैमरामेन की मौत, 2 जवान भी शहीद
Next articleमध्य प्रदेश: राहुल गांधी की मौजूदगी में बीजेपी विधायक संजय शर्मा ने थामा कांग्रेस का हाथ