गुजरात विधानसभा चुनाव में चुनिंदा सीटों पर किस्मत आजमा सकती है AAP

0
Follow us on Google News

गुजरात में विधानसभा चुनाव लड़ने या नहीं लड़ने की संभावना के सवाल पर बंटी हुई आम आदमी पार्टी(AAP) के नेता बीच का रास्ता अपना सकते हैं और उन सीटों पर अपने उम्मीदवार उतार सकते हैं, जहां उनके जीतने की संभावना ठीक-ठाक है।दरअसल, गुजरात में पार्टी के नेताओं का एक वर्ग चुनाव लड़ने के खिलाफ है, वहीं कुछ को लगता है कि उसे सभी सीटों पर किस्मत आजमानी चाहिए। एक तीसरा वर्ग है, जिसकी राय है कि उसे कुछ चुनिंदा सीटों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए और इन पर जीत हासिल करने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक देनी चाहिए।

योगी सरकार के विधायक की गुंडागर्दी, ट्रैफिक नियमों को तोड़ कर दिखाई दबंगई

राज्य में सभी विधानसभा क्षेत्रों में पार्टी कार्यकर्ताओं से जानकारी एकत्रित कर क्षेत्रवार रिपोर्ट आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल को सौंपी गयी है। पार्टी की गुजरात इकाई के प्रभारी गोपाल राय ने राज्य के नेताओं के साथ दो दिन तक बैठक की जहां मौजूदा राजनीतिक हालात, कांग्रेस की संभावनाओं, मुख्य विपक्ष और किसानों से जुड़े मुद्दों समेत कई पहलुओं पर विस्तार से विचार-विमर्श किया गया।

हाल ही में राज्य में पाटीदार और दलित आंदोलन और इसका राज्य के चुनावों पर संभावित प्रभावों पर भी विस्तार से चर्चा हुई। पिछले सप्ताह पार्टी की राष्ट्रीय कार्यसमिति ने किसानों के मुद्दे पर गुजरात और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में अपने प्रदर्शन को तेज करने का फैसला किया था।

Govt should open offices of CBI, ED and IT outside media houses that raise questions

बता दें कि गुजरात में इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं। वहीं, मध्य प्रदेश में 2018 के अंत तक चुनाव होंगे। AAP नेता ने कहा कि गुजरात पर अभी तक कोई फैसला नहीं हुआ है। इस समय चुनाव लड़ने, नहीं लड़ने से लेकर कुछ सीटों पर लड़ने तक, तरह तरह की राय हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here