VIDEO: अब योगी के मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण ने हनुमान को बताया ‘जाट’, दिए अजीबोगरीब तर्क

0

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से हिंदुओं के आराध्य भगवान हनुमान को दलित बताए जाने के बाद शुरू विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। वहीं, गुरुवार को हनुमान जी की जाति और धर्म पर टिप्पणी करते हुए बीजेपी के दो नेताओं ने इस विवाद को फिर से सुलगा दिया है।

जाट
फाइल फोटो : योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण

उत्तर प्रदेश से बीजेपी नेता और एमएलसी बुक्कल नवाब ने गुरुवार को दावा किया कि भगवान हनुमान एक मुस्लिम थे। बुक्कल नवाब ने भगवान हनुमान को मुसलमान बताते हुए कहा कि उनके नाम पर ही हमारे यहां नाम रखे जाते हैं। उसके कुछ देर बाद ही योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण ने हनुमान जी को जाट बताया। इन दोनों के बयान के साथ ही हनुमान की जाति पर थम गई बयानबाजी एक बार फिर तेज हो गई है।

अपने बयान पर तर्क देते हुए योगी के मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण ने कहा कि बजरंग बली जाट थे। क्योंकि जाट ही दूसरों के मामलों में अपनी टांग फंसाता है, हनुमान जी मेरी जाति के थे। बताते चले कि लक्ष्मी नारायण भी जाट हैं।

बता दें कि इससे पहले बीजेपी एमएलसी बुक्कल नवाब ने कहा था कि ‘जब बात होती है हनुमान जी को जाति-धर्म में बांटने की तो बता दें कि वह पूरे विश्व के थे, हर धर्म के थे, हर मजहब के थे वो हर धर्म के प्यारे थे।’ उन्होंने आगे कहा, ‘जहां तक हमारा मानना है कि हनुमान जी मुसलमान थे, इसलिए हमारे अंदर जो नाम रखे जाते हैं, रहमान, रमजान, फरमान, जिशान, कुर्बान, जैसे जितने भी नाम रखे जाते हैं वो करीब-करीब हनुमान जी के नाम पर ही रखे जाते हैं। हिन्दू भाइयों में ऐसे नाम नहीं मिलते।’

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में राजस्थान के अलवर जिले के मालाखेड़ा में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए भगवान हनुमान को दलित, वनवासी, गिरवासी और वंचित करार दिया था। इसके बाद से ही भगवान हनुमान की जाति को लेकर तो हाल में खूब सियासी बयानबाजी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here