“कहीं पे निगाहें कहीं पे निशाना”: रजत शर्मा के ट्वीट पर मचा ट्विटर पर बवाल, लोगों ने कहा- उनका ट्वीट डॉनल्ड ट्रम्प के लिए बल्कि अर्नब गोस्वामी पर हमला हैं

0

वरिष्ठ पत्रकार और समाचार चैनल इंडिया टीवी के चेयरमैन व एडिटर इन चीफ रजत शर्मा का एक ट्वीट इस समय सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, जिसमें उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प का ज्रिक किया है। लेकिन, सोशल मीडिया यूजर्स का कहना है कि, रजत शर्मा ने अपने इस ट्वीट के जरिए रिपब्लिक टीवी के संस्थापक अर्नब गोस्वामी पर निशाना साधा है। बता दें कि, 5 नवंबर को रायगढ़ पुलिस ने अर्नब को अन्वय नाइक आत्महत्या केस में गिरफ्तार किया था। फिलहाल, वह अभी तलोजा जेल में बंद है।

रजत शर्मा

इंडिया टीवी के एडिटर इन चीफ रजत शर्मा ने सोमवार को ट्वीट किया, “उन्होंने मीडिया का मजाक उड़ाया और गालियां दीं, कैमरे पर झूठ बोला, उनकी कोई बुनियादी शालीनता नहीं थी, हर किसी के लिए मतलबी थे, फेक लोकप्रियता, अब वह चाहते हैं कि SC (सर्वोच्च न्यायालय) उन्हें और मीडिया को उनका समर्थन करें! क्या बदमाशी है… !!! कबूल करो और अब जाओ, श्री ट्रम्प।”

हांलाकी, रजत शर्मा ने अपने इस ट्वीट में कही भी रिपब्लिक टीवी व अर्नब गोस्वामी का नाम नहीं लिया हैं। लेकिन, सोशल मीडिया यूजर्स का कहना है रजत शर्मा ने अपने इस ट्वीट के जरिए अर्नब गोस्वामी पर निशाना साधा है। शर्मा का यह ट्वीट अब सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, जिसपर यूजर्स भी जमकर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। बता दें कि, अर्नब गोस्वामी भी कई बार लाइव टीवी डिबेट के दौरान रजत शर्मा पर निशाना साध चुके हैं।

 

एक यूजर ने अपने ट्वीट में लिखा, “एक पत्तलकार का ट्रम्प के बहाने दूसरे पत्तलकार अर्नब गोस्वामी पर निशाना!!” वहीं, एक अन्य यूजर ने लिखा, कहीं पे निगाहें कहीं पर निशाना।” एक अन्य यूजर ने लिखा, “रजत जी आप ये डॉनल्ड ट्रम्प के कंधे पर बन्दूक रख कर अर्नब गोस्वामी जी को सुना रहे है।” वहीं, कई अन्य यूजर्स ने रजत शर्मा को इस ट्वीट के लिए ट्रोल भी किया।

रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी को रविवार सुबह अलीबाग क्वारंटाइन सेंटर से तलोजा जेल ले जाया गया है। वहीं, जब अर्नब को अलीबाग क्वारंटाइन सेंटर से तलोजा जेल भेजा जा रहा था तो उस दौरान अर्नब ने पुलिस वैन से कहा था कि, ”मुझे जान का खतरा है, मुझे सुबह पुलिस स्टेशन में मारा और घसीटा गया। सुबह जेलर ने मुझे मारा, मैंने आग्रह किया मुझे प्लीज वकील से बात करने दीजिए। मुझे बोला गया बात नहीं करने देंगे।”

गौरतलब है कि, महाराष्ट्र के रायगढ़ पुलिस की टीम ने बुधवार सुबह मुंबई के लोअर परेल स्थित घर से अर्नब गोस्वामी को गिरफ्तार किया था। उसके बाद बुधवार देर रात ही अर्नब को तीन अन्य आरोपियों के साथ अलीबाग कोर्ट में पेश किया गया, जहां से कोर्ट ने तीनों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here