गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद ‘रिपब्लिक टीवी’ के संस्थापक अर्नब गोस्वामी को करना पड़ा शर्मिंदगी का सामना, जानिए क्यों

0

कुख्यात अपराधी एवं उत्तर प्रदेश के कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले का मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे शुक्रवार सुबह कानपुर के भौती इलाके में पुलिस मुठभेड़ मे मारा गया। गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर पर अब तरह-तरह के सवाल भी उठने लग गए है। इस बीच, अंग्रेजी समाचार चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ के एंकर और संस्थापक अर्नब गोस्वामी की टीवी डिबेट का एक छोटा सा वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो को लेकर अर्नब गोस्वामी को सोशल मीडिया पर शर्मिंदगी का सामना करना पड़ रहा है, लोग उन्हें जमकर ट्रोल कर रहे हैं।

अर्नब गोस्वामी

बता दें कि, आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले का मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे को गुरुवार (9 जुलाई) को उस वक्त गिरफ्तार किया गया जब वह मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में महाकाल के दर्शन करने पहुंचा था। विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद कई लोगों ने आशंका जताई थी की यूपी पुलिस उसका एनकाउंटर सकती है। विकास दुबे की गिरफ्तारी को लेकर अर्नब गोस्वामी ने गुरुवार को अपने चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ पर एक डिबेट शो रखा था।

अपने इस लाइव टीवी डिबेट के दौरान अर्नब गोस्वामी ने चिल्ला-चिल्लाकर कहा था कि देखों कहां हुआ विकास दुबे का एनकाउंटर, कहां हुआ एनकाउंटर। वहीं, आज विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद अर्नब गोस्वामी का यह वीडियो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो को लेकर गोस्वामी को सोशल मीडिया पर शर्मिंदगी का सामना करना पड़ रहा है, लोग उन्हें जमकर ट्रोल कर रहे हैं।

देखें कुछ ऐसे ही ट्वीट

पुलिस के मुताबिक, गैंगस्टर विकास दुबे शुक्रवार सुबह उस समय मुठभेड़ में मारा गया जब उज्जैन से उसे लेकर कानपुर आ रही पुलिस की एक गाड़ी भऊती इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गई और उसने मौके से भाग जाने की कोशिश की। कानपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने बताया कि दुर्घटना में नवाबगंज थाने के एक निरीक्षक समेत चार पुलिसकर्मी जख्मी हो गए। दुबे को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

बता दें कि, कानपुर के चौबेपुर इलाके के बिकरू गांव में तीन जुलाई को देर रात में बदमाशों पर दबिश देने गए पुलिस दल पर अपराधियों ने हमला कर दिया था जिसमें पुलिस उपाधीक्षक देवेंद्र मिश्रा समेत आठ पुलिसकर्मी मारे गए थे। विकास दुबे कानपुर कांड का मुख्य आरोपी था। दुबे से पहले उसके पांच कथित सहयोगी पुलिस के साथ अलग-अलग मुठभेड़ में मारे गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here