VIDEO: बिहार के नालंदा से सामने आई दर्दनाक तस्वीर, एंबुलेंस नहीं मिली तो ठेले पर शव ले जाने को मजबूर हुए रिश्तेदार

0

देश के साथ-साथ बिहार में भी घातक कोरोना वायरस का संक्रमण इन दिनों तेजी से फैल रहा है। वहीं, राज्य के कई जिलों में बाढ़ ने लोगों की कई मुसीबतें बढ़ा दी हैं। तो वहीं राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था का पस्त हो रही है। कोरोना काल में इलाज के लिए मरीजों को जूझना पड़ रहा है, जिसकी एक दर्दनाक तस्वीर सामने आई है।

बिहार

कोरोना संकट के बीच, बिहार के नालंदा जिले में एंबुलेंसकर्मी हड़ताल पर चले गए हैं, जिससे लोगों को एंबुलेंस सेवा नहीं मिल पा रही है। इस वजह से यहां से एक बेहद ही दर्दनाक वीडियो सामने आया है, जो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। यहां एंबुलेंस नहीं मिलने पर एक शख्स, एक महिला का शव ठेले पर रखकर ले जाते हुए दिखाई दिया है। नालंदा जिले में एबुलेंस कर्मचारी की पिटाई के विरोध मे कर्मचारियों के अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाने से जिले मे एबुलेंस सेवा शुक्रवार से ठप हो गई है।

समाचार एजेंसी ANI ने घटना का वीडियो शेयर करते हुए लिखा, नालंदा में एंबुलेंस कर्मियों की हड़ताल की वजह से एक महिला का शव पोस्टमार्टम के बाद रिश्तेदार ठेले से लेकर गए। महिला के रिश्तेदार ने कहा कि, “महिला ने कुछ लोगों को घर के पास शराब बेचने से मना किया जिसके चलते उसकी हत्या कर दी। पोस्टमार्टम के बाद शव को ले जाने के लिए एंबुलेंस नहीं मिली। इसलिए शव ठेले से ले जा रहे हैं।”

बता दें, कुछ दिन पहले पुलिसकर्मियों द्वारा एंबुलेंसकर्मी के साथ मारपीट की गई थी। इसके विरोध में एंबुलेंसकर्मी हड़ताल पर चले गए। नालंदा जिले के सभी 102 एंबुलेंसकर्मी इस अनिश्चितकालीन हड़ताल में शामिल हैं। उनकी मांग है कि जब तक न्याय नहीं मिलेगा हड़ताल जारी रहेगी।

बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या 23300 हो गई है। शुक्रवार को 901 नए मरीज मिले। सबसे अधिक नए मरीज सीवान और नालंदा जिले में मिले हैं। सीवान के 122 और नालंदा के 105 संदिग्धों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here