शर्मनाक: नहीं मिली एंबुलेंस, 20 किमी पैदल चल सड़क पर ही दिया बच्ची को जन्म, मौके पर ही नवजात की मौत

0

मध्य प्रदेश के कटनी जिले से बेहद शर्मनाक खबर आई है। सरकारी एंबुलेंस नहीं मिलने की वजह से एक महिला को सड़क पर ही बच्चे को जन्म देना पड़ा, सड़क पर गिरने की वजह से मासूम नवजात की मौके पर ही मौत हो गई। न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार, जिला मुख्यालय से करीब 50 किलोमीटर दूर बरही में एक महिला का सड़क पर ही सोमवार (31 जुलाई) की दोपहर प्रसव हो गया, जिसके कारण नवजात बच्ची की जमीन में गिरने से मौके पर ही मौत हो गई।

Also Read:  हरियाणा के बाद अब बिहार के सरकारी स्कूल के मिड डे मील में मिला सांप का बच्चा
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

महिला के परिजन का आरोप है कि इस महिला को प्रसव के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बरही ले जाने के लिए उसके पति द्वारा स्वास्थ्य केंद्र में करीब डेढ घंटे तक फरियाद करने के बाद भी उसे एंबुलेंस नहीं मिल पाई। उन्होंने दावा किया कि प्रसव पीड़ा के दौरान बीना बाई को जब एंबुलेंस लेने उसके घर नहीं पहुंची, तो वह पैदल ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बरही की ओर चल पड़ी।

Also Read:  संसदीय समिति ने केंद्र को लगाई फटकार, कहा- आतंकी हमलों को रोकने में नाकाम रही है मोदी सरकार

इस बीच, उसका पति बरही में एंबुलेंस के लिए गुहार लगाता रहा। बरमानी गांव से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बरही की दूरी लगभग 20 किलोमीटर है। परिजनों ने बताया कि जैसे ही महिला बरही पुलिस थाने के पीछे वाली सड़क पर पहुंची। उसे प्रसव हो गया और नवजात बच्ची की जमीन में गिरने से मौत हो गई। हालांकि, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी अशोक अवधिया ने बताया कि इस महिला ने समय से पूर्व सातवें महीने में ही बच्ची को जन्म दिया था।

Also Read:  देश के अगले उपराष्ट्रपति होंगे वेंकैया नायडू, 11 अगस्त को लेंगे शपथ

परिजन द्वारा एंबुलेंस न मिलने के आरोप पर अवधिया ने कहा कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बरही में एंबुलेंस नहीं है और जननी एक्सप्रेस नाम से चलने वाली 108 एंबुलेंस हमारे अधिकार में नहीं है। इसे भोपाल से उपलब्ध कराया जाता है। उन्होंने कहा कि इस घटना की जांच के आदेश दे दिये गये हैं और यदि कोई दोषी पाया जाता है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here