“खराब पत्रकारिता के खिलाफ भी हिंसा ठीक नहीं”, प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया ने कथित हमले की निंदा करते हुए अर्नब गोस्वामी पर किया कटाक्ष?

0

एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया और प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया (पीसीआई) ने अंग्रेजी समाचार चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ के संस्थापक और एंकर अर्नब गोस्वामी व उनकी पत्नी पर हुए कथित हमले की गुरुवार (23 अप्रैल) को निंदा की है। भारतीय प्रेस परिषद् (पीसीआई) ने वरिष्ठ पत्रकार पर हुए हमले की निंदा की और घटना को लेकर महाराष्ट्र सरकार से रिपोर्ट मांगी है। हालांकि, पीसीआई ने अर्नब गोस्वामी की ‘खराब पत्रकारिता’ पर कटाक्ष भी किया है।

अर्नब गोस्वामी

भारतीय प्रेस परिषद् (पीसीआई) ने बयान जारी कर कहा कि यह जानकर निराशा हुई कि अर्नब गोस्वामी पर कथित तौर पर हमला ‘‘एक पत्रकार के तौर पर उनके कथित विचारों को लेकर हुआ।’’ पीसीआई ने कहा, ‘‘इस देश में पत्रकारों सहित हर नागरिक को अपने विचार रखने का अधिकार है जो कई लोगों को ठीक नहीं लग सकता है लेकिन यह किसी को इस तरह की आवाज को दबाने का अधिकार नहीं देता है। खराब पत्रकारिता के खिलाफ भी हिंसा जवाब नहीं हो सकती।’’

बयान में कहा गया है कि परिषद् हमले की निंदा करती है और राज्य सरकार से उम्मीद करती है कि वह अपराध के षड्यंत्रकारियों को पकड़ेगी और उन्हें तुरंत कठघरे में खड़ा करेगी। पीसीआई ने कहा कि मामले का स्वत: संज्ञान लेते हुए पीसीआई के अध्यक्ष ने महाराष्ट्र सरकार से कहा है कि मुख्य सचिव और मुंबई के पुलिस आयुक्त के माध्यम से मामले के तथ्यों पर जल्द से जल्द रिपोर्ट सौंपी जाए।

नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स (इंडिया) ने भी गोस्वामी पर कथित हमले की निंदा की और कहा कि अगर किसी को किसी चीज से समस्या है तो उन्हें हिंसा के बजाए विरोध का उचित रास्ता चुनना चाहिए। एनयूजे (आई) ने यह भी कहा कि पत्रकारों और मीडिया घरानों को भी किसी भी कीमत पर अपनी सीमा नहीं लांघनी चाहिए और पेशेवर आचरणों का सख्ती से पालन करना चाहिए।

एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने भी गोस्वामी और उनकी पत्नी पर हुए कथित हमले की निंदा करते हुए कहा कि किसी भी पत्रकार के खिलाफ किसी तरह की हिंसा, अभद्र शब्द या दुर्व्यवहार और नफरत फैलाना ‘निंदनीय कृत्य’ है। गिल्ड ने मुंबई पुलिस से अपील की है कि वह गोस्वामी और उनकी पत्नी पर हमला करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज करें।

पुलिस ने बताया कि मुंबई में अर्नब गोस्वामी की कार पर मोटरसाइकिल सवार दो लोगों ने कथित तौर पर हमला किया और कार की खिड़की के कांच को तोड़ने का प्रयास किया। उस समय वह और उनकी पत्नी अपने घर जा रहे थे। दोनों हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया गया है। बता दें कि, अर्नब गोस्वामी ने हाल ही में लाइव टीवी पर एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया से अपना इस्तीफा दे दिया था। गोस्वामी ने कोरोना वायरस महामारी के दौरान फेक न्यूज के खिलाफ नहीं बोलने के लिए वरिष्ठ पत्रकार शेखर गुप्ता पर निशाना भी साधा था, जो एडिटर्स गिल्ड के अध्यक्ष हैं।

गौरतलब है कि, अर्नब गोस्वामी ने भाजपा नेता राजीव चंद्रशेखर और भाजपा समर्थक मोहनदास की मदद से बड़े ही धमाके के साथ 6 मई 2017 को अपने नए इंग्लिश चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ को लॉन्च किया था, जिसके बाद से ही वह लगातार विवादों में रहे हैं। अर्नब गोस्वामी को उनके आलोचक भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) समर्थक करार देते हैं। (इंपुट: भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here