आम आदमी पार्टी में वापसी को लेकर कुमार विश्वास के बयान पर प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव ने दी प्रतिक्रिया

0

स्वराज इंडिया के संस्थापक प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव ने आम आदमी पार्टी (AAP) के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास के उन दावों को खारिज कर दिया, जिसमें उन्होंने कहा था कि प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव से बातचीत की जा रही है, ताकि पार्टी में उनकी वापसी हो सके।

प्रशांत भूषण
फाइल फोटो- प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव

‘जनता का रिपोर्टर’ की ख़बर पर प्रशांत भूषण ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। प्रशांत भूषण ने इस रिपोर्ट का बेतुका बताते हुए कहा कि, भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के सभी आदर्शों को धोखा देने वाली आम आदमी पार्टी की ओर से किसी बात की संभावना नहीं है। बता दें कि, प्रशांत भूषण के इस ट्वीट को योगेंद्र यादव ने रिट्वीट किया है।

वहीं दूसरी ओर योगेंद्र यादव ने भी इसी रिपोर्ट पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। योगेंद्र यादव ने इस ख़बर पर हैरानी जताते हुए कहा कि सच में? क्योंकि हम दोनों को इस बारे में कोई जानकारी नहीं है!

बता दें कि, आम आदमी पार्टी (AAP) के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास ने सनसनीखेज तरीके से खुलासा करते हुए रविवार (3 दिसंबर) को कहा था कि, पार्टी प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव सहित उन लोगों से बात कर रही है, जिन्होंने संगठन छोड़ दिया था। यह बातचीत इसलिए की जा रही है, ताकि पार्टी में उनकी वापसी हो सके।

न्यूज़ एजेंसी भाषा की ख़बर के मुताबिक, रविवार को कुमार विश्वास ने आप कार्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ चर्चा के बाद कहा कि, ‘यदि वह कोई राजनीतिक पार्टी में शामिल नहीं हुआ है और यहां वापस आना चाहता है। यदि किसी ने एक राजनीतिक पार्टी बना ली है और उसका विलय हमारी पार्टी के साथ करना चाहता है। यदि कोई हमसे नाखुश होकर सामाजिक कार्य करने के लिए चला गया था, सूची लंबी है।

सुभाष वारे से अंजलि दमानिया, मयंक गांधी, धर्मवीर गांधी से प्रशांत जी और योगेंद्र जी। साथ ही उन्होंने कहा कि, ऐसे लोगों की सूची को समन्वित कर रहे हैं। कार्यकर्ताओं द्वारा उनसे बातचीत की जा रही है, हमने जो गलतियां कीं उसके लिए हम माफ करने के लिए कहेंगे।

हालांकि, ‘आप’ नेता कुमार विश्वास की इस टिप्पणी का आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के एक नजदीकी नेता ने खंडन किया है। वहीं, स्वराज इंडिया के मुख्य प्रवक्ता अनुपम ने कहा था कि, ‘अन्य को वापस आने की अपील करने की बजाय, उन्हें केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी को सही रास्ते पर लाना चाहिए।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here