AAP विधायक अमानतुल्लाह खान का निलंबन रद्द, कुमार विश्वास ने अमानतुल्लाह को बताया ‘मुखौटा’

0

दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (AAP) के ओखला से विधायक अमानतुल्लाह खान का निलंबन बहाल कर दिया गया है। अमानतुल्लाह खान का निलंबन रद्द होना AAP के बड़े नेताओं में शुमार कुमार विश्वास के लिए एक बड़े झटके के रूप में देखा जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पार्टी की जांच कमेटी ने निलंबित विधायक अमानतुल्लाह को बहाल कर दिया है।बता दें कि इस साल 3 मई को कुमार विश्वास और अमानतुल्लाह के बीच विवाद के बाद पॉलिटिकल अफेयर्स कमिटी (पीएसी) की बैठक में अमानतुल्लाह खान को पार्टी से सस्पेंड कर तीन सदस्यीय कमेटी मामले की जांच के लिए बनाई गई थी। साथ ही कुमार विश्वास को पार्टी में बड़ी जिम्मेदारी देते हुए राजस्थान का प्रभारी नियुक्त किया गया है, ताकि राजस्थान के चुनाव में पार्टी को खड़ा कर सकें।

अमानतुल्लाह खान का निलंबन खत्म होने के मामले में कुमार विश्वास ने पार्टी नेताओं पर निशाना साधा है। कुमार विश्वास ने आज तक से बातचीत में कहा कि अमानतुल्लाह पहले भी सिर्फ मुखौटा था और आज भी मुखौटा है। विश्वास ने कहा कि राजनीतिक साइड लाइन की परंपरा पुरानी है, पहले मयंक गांधी, प्रशांत भूषण और अंजलि दमानिया के साथ भी ऐसा ही हुआ था।

कुमार ने कहा कि पार्टी में कुछ लोग उसे (अमानतुल्लाह) मुखौटा पहनाकर मेरे खिलाफ साजिश रच रहे हैं। विश्वास ने कहा कि मैं नीम की तरह कड़वी दवा हूं। मेरे लिए अमानतुल्लाह या राज्यसभा मुद्दा नहीं है। कई राष्ट्रहित के मुद्दों पर मैं पार्टी में अकेला पड़ गया था। कुमार ने कहा कि अमानतुल्लाह को किस आधार पर क्लीनचिट दी गई है मैंने वह रिपोर्ट मांगी, लेकिन मुझे वह रिपोर्ट नहीं गई है।

क्या है पूरा मामला?

दरअसल, नगर निगम चुनाव(MCD ) में मिली हार के बाद कुमार विश्वास ने पार्टी नेतृत्व पर सवाल उठाए थे, जिसके बाद अमानतुल्लाह ने विश्वास पर निशाना साधा था। अमानतुल्लाह खान ने 30 अप्रैल को कुमार विश्वास पर पार्टी तोड़ने और हड़पने के आरोप लगाते हुए विश्वास पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के इशारे पर काम करने का गंभीर आरोप लगाया था।

इतना ही नहीं अमानतुल्लाह ने विश्वास को बीजेपी और आरएसएस का ‘एजेंट’ तक करार दे दिया था। खान ने कहा था कि कुमार विश्वास ने अपने जन्मदिन पर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और आरएसएस कार्यकर्ताओं को बुलाया था। खान ने आरोप लगाया था कि विश्वास आम आदमी पार्टी को तोड़ना चाहते हैं।

इसके बाद से ही अमानतुल्लाह पार्टी के कई विधायकों के निशाने पर आ गए थे और उन्हें पॉलिटिकल अफेयर्स कमिटी (पीएसी) से बाहर जाना पड़ा था। साथ ही उन्हें पार्टी से निलंबित भी कर दिया गया था। उस वक्त हालात इतने बिगड़ गए थे कि अमानतुल्लाह के बयान से नाराज कुमार विश्वास को मनाने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को आधी रात गाजियाबाद स्थ‍ित कुमार विश्वास के घर भी जाना पड़ा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here