मध्य प्रदेश: निकाय चुनाव में दिखा किसान आंदोलन का असर, मंदसौर में BJP का सूपड़ा साफ

0

मध्य प्रदेश में हाल ही में हुए किसान आंदोलन का असर मंदसौर जिले के निकाय चुनाव में साफतौर पर देखने को मिला है। मध्य प्रदेश में हुए नगर निकाय चुनाव में भले ही सत्तारुढ़ बीजेपी को शानदार जीत मिली हो, लेकिन मंदसौर जिले के नतीजों ने उनकी जीत की जश्न पर पानी फेर दिया है।

मध्य प्रदेश
फोटो- oneindia

यही वजह है कि यहां के तीन वार्डों में बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा, इन तीनों सीटों पर कांग्रेस ने जीत दर्ज की है। मंदसौर जिले में जिन तीन सीटों पर नगर पंचायत चुनाव हुए, उनमें शामगढ़ नगर पंचायत के दो वार्ड और गरोठ नगर पंचायत का एक वार्ड शामिल है। कांग्रेस ने तीनों निकाय सीटों पर जीत दर्ज की है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शामगढ़ नगर पंचायत के दो वार्डों के चुनाव में कांग्रेस के गोपाल पटेल और निलेश संघवी ने जीत हासिल की, वहीं गरोठ के वार्ड नंबर 9 के उपचुनाव में भी कांग्रेस की संगीता चंदेल ने भाजपा उम्मीदवार को शिकस्त दी।

बता दें कि, मध्य प्रदेश में 43 सीटों पर हुए निकाय चुनाव में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) को बड़ी जीत मिली है। बीजेपी के खाते में 26 सीटें गई हैं, वहीं कांग्रेस को 14 सीटों पर जीत मिली है और 3 सीटें निर्दलीय को मिली है।

ख़बरों के मुताबिक, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव का कहना है कि कांग्रेस का प्रदर्शन बेहतर रहा है, मगर अपेक्षा के अनुरूप नहीं, क्योंकि सरकारी मशीनरी का सत्ता पक्ष ने जमकर दुरुपयोग किया है। वहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नतीजों पर खुशी जताते हुए कहा कि जनता ने एक बार फिर उनकी सरकार में अपनी आस्था व्यक्त किया है।

मध्य प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं, लगातार 3 बार से यहां बीजेपी का शासन है। माना जा रहा है कि मंदसौर में आंदोलन के दौरान किसानों की मौत और उसके बाद मचे सियासी बवाल का असर ही इन चुनावों में नजर आया है।

बता दें कि मध्य प्रदेश के मंदसौर में मंगलवार(6 जून) को किसान आंदोलन के दौरान प्रदर्शनकारियों पर पुलिस द्वारा की गई फायरिंग में छह किसानों की मौत हो गई थी और कई अन्य किसान घायल हो गये थे। इसके बाद किसान भड़क गये और किसान आंदोलन समूचे मध्य प्रदेश में फैल गया तथा और हिंसक हो गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here