MP: मंदसौर में किसान रैली के दौरान पुलिस ने योगेंद्र यादव और मेधा पाटेकर को हिरासत में लिया

0

मध्य प्रदेश के मंदसौर जा रहे स्‍वराज इंडिया के प्रमुख योगेंद्र यादव और सामाजिक कार्यकर्ताओं मेधा पाटकर को किसान रैली के दौरान पुलिस ने गुरुवार(6 जुलाई) को हिरासत में लिया है। बता दें कि पिछले महीने किसान आंदोलन के दौरान मंदसौर में पुलिस फायरिंग में 6 किसानों की मौत हो गई थी, जिसे लेकर काफी दिनों तक हंगामा हुआ था।

फोटो: फेसबुक

एक फेसबुक पोस्ट कर योगेंद्र यादव ने लिखा, ‘हमें पिपलिया मंडी (मंदसौर, मध्य प्रदेश) के पास पुलिस ने अलोकतांत्रिक तरीके से गिरफ्तार कर लिया है।’ स्वराज इंडिया के प्रमुख ने आगे लिखा, ‘मेरे साथ वी.एम.सिंह, राजू शेट्टी, रामपाल जाट, मेधा पाटकर, हनन मौन्ना, सुहासनी अली, पारस सकलेचा, कल्पना परुलकर और सैकड़ों आंदोलनकारी को गिरफ्तार कर लिया गया है। हजारों किसानो को पीछे ही रोक दिया गया है।’

हिरासत में लिए जाने के बाद योगेंद्र यादव ने शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए ट्वीट कर सवाल किया, ‘जिस प्रदेश में सत्ताधारी पार्टी किसान यात्रा निकाल सकती है, विपक्ष कांग्रेस को भी किसान यात्रा करने दिया जाता है। फ़िर हमें गिरफ़्तार क्यूं?’

बता दें कि मध्यप्रदेश में किसानों ने 1 जून को शिवराज सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। कर्ज माफी और अपनी फसल के वाजिब दाम की मांग को लेकर किसानों ने हड़ताल शुरू कर दी। किसानों ने पश्चिमी मध्य प्रदेश में अपनी तरह के पहले आंदोलन की शुरूआत करते हुए अनाज, दूध और फल-सब्जियों की आपूर्ति रोक दी थी। सोशल मीडिया के जरिए शुरू हुआ किसानों का आंदोलन 10 दिन चला था।

राज्य में एक जून से 10 जून तक चले किसान आंदोलन के दौरान हुई हिंसा में 6 लोगों की मौत के बाद सूबे में शांति के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान खुद 10 जून को उपवास पर बैठ गए थे। जिसके बाद अनिश्चितकालीन उपवास पर बैठे शिवराज सिंह चौहान ने एक दिन बाद 11 जून को उपवास तोड़ दिया।

6 किसानों की मौत

मंदसौर में 6 जून को किसान आंदोलन के दौरान प्रदर्शनकारियों पर पुलिस पुलिस द्वारा की गई फायरिंग में छह किसानों की मौत हो गई थी और कई अन्य किसान घायल हो गये थे। इसके बाद किसान भड़क गये और किसान आंदोलन समूचे मध्य प्रदेश में फैल गया तथा और हिंसक हो गया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here