मध्यप्रदेश के गृहमंत्री ने सार्वजनिक किया बलात्कार पीड़िता का नाम, बाद में ट्वीट डिलीट कर मांगी माफी

0

जहां एक तरफ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) शासित राज्य मध्य प्रदेश में नाबालिग लड़कियो से रेप के मामले कम होने का नाम ही नहीं ले रहीं है वहीं दूसरी ओर राज्य के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह एक ऐसा ट्वीट सामने आया है जिससे लेकर अब विवाद खड़ा हो गया है।

फाइल फोटो

दरअसल, मध्यप्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने बलात्कार के बाद हत्या कर दी गई मासूम लड़की का नाम कथित-तौर पर सार्वजनिक कर दिया है। हांलाकी बाद में उन्होंने इस ट्वीट को डिलीट करते हुए मांफी मांग ली है, साथ ही इस पर उन्होंने सफाई भी दी है।

न्यूज़ 18 हिंदी की ख़बर के मुताबिक, मध्य प्रदेश के देवास जिले में पांच नवंबर को सातवीं कक्षा की छात्रा की दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई थी, इस घटना को लेकर ‘जनसेवा’ में शिकायत हुई थी। शिकायत का निराकरण होने यानी घटना के आरोपी की गिरफ्तारी की जानकारी को लेकर गृह मंत्री के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से दी गई।

गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि, ‘जनसेवा निराकरण: ग्राम सुन्द्रेल देवास में 5 नवम्बर को हुई बलात्कार व हत्या की घटना की शिकायत जनसेवा में प्राप्त हुई। इस सम्बन्ध में पुलिस को जल्द कार्यवाही के आदेश दिए गए थे। कुमारी (……..) की हत्या के आरोपी लोकेश के खिलाफ केस दर्ज कर गिरफ्तारी के बाद जेल भेज दिया गया है।’

screenshot- hindi.news18

प्रदेश के गृहमंत्री से हुई इस लापरवाही के बाद बड़ा विवाद खड़ा हो गया है। हालांकि लापरवाही की घटना सुर्खियों में आने के बाद गृहमंत्री ने अपना विवादित ट्वीट हटा दिया है। लेकिन उनके ट्वीट का एक स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

हांलाकी बाद में गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने ट्वीट डीलीट करते हुए लिखा कि, हम आमजन की समस्या निवारण के लिए पृथक जनसेवा निराकरण सेल संचालित कर रहे हैं। जिसमें सोशल मीडिया के ज़रिए जनसमस्याएं सुनी जाती है। इसी सेल के एक कर्मचारी ने त्रुटिवश पीड़ित बालिका का नाम सार्वजनिक कर दिया। उस कर्मचारी को तत्काल सेल से हटा दिया गया है, मुझे इस त्रुटि के लिए खेद है।

बता दें कि, हाल ही में आए राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की रिपोर्ट के मुताबिक, 2017 में देश में 28,947 महिलाओं के साथ बलात्कार की घटना दर्ज की गई। इसमें मध्यप्रदेश में 4882 महिलाओं के साथ बलात्कार की घटना दर्ज हुई।

रिपोर्ट के मुताबिक, महिलाओं के साथ बलात्कार के मामले में एक बार फिर से देश के सभी राज्यों में मध्यप्रदेश सबसे पहले स्थान पर दर्ज किया गया है। एनसीआरबी की रिपोर्ट के मुताबिक मध्यप्रदेश इस मामले में गत वर्ष भी देश में पहले स्थान पर ही था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here