किसान आंदोलन में शामिल पंजाब की एक बुजुर्ग महिला को ‘बिलकिस दादी’ बताकर बुरी फंसी कंगना रनौत, पंजाब के वकील ने अभिनेत्री को भेजा कानूनी नोटिस

0

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान आंदोलन से जुड़े अपने एक ट्वीट को लेकर सोशल मीडिया पर फजीहत झेलने के बाद अब अभिनेत्री कंगना रनौत की एक और मुसीबत बढ़ गई है। बता दें कि, किसान आंदोलन को लेकर कंगना रनौत ने हाल ही में एक ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने एक महिला आंदोलकारी को शाहीन बाग वाली ‘दादी’ बिलकिस बानो बताया था। अब इसे लेकर कंगना रनौत को पंजाब के एक वकील ने लीगल नोटिस जारी किया है और ट्वीट के लिए माफी की मांग की है।

कंगना रनौत

दरअसल, भाजपा समर्थक अभिनेत्री कंगना रनौत ने एक फेक ट्वीट को रीट्वीट करते हुए बिलकिस बानो को लेकर ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने लिखा था, “हा हा हा, यह वही दादी हैं जो सबसे ताकतवर भारतीय होने के चलते टाइम मैगजीन में नजर आ चुकी हैं। और यह 100 रुपये में उपलब्ध हैं। पाकिस्तानी पत्रकारों ने इंटरनेशनल पीआर को भारत के लिए शर्मनाक तरीके से हायर किया है। हमें अपने ऐसे लोग चाहिए जो हमारे लिए इंटरनेशनली आवाज उठा सके।”

हालांकि, सोशल मीडिया पर आलोचनाओं के बाद अभिनेत्री ने अपना यह ट्वीट डिलीट कर दिया था। वहीं, अब पंजाब में ज़ीरकपुर के वकील ने अभिनेत्री कंगना रनौत को कानूनी नोटिस भेजकर अपने ट्वीट पर माफी मांगने की मांग की, जिसमें कृषि कानूनों के विरोध प्रदर्शन में एक बूढ़ी महिला को ‘बिलकिस दादी’ बताया गया था।

वकील हाकम सिंह ने कहा कि कंगना रनोट में अपने ट्वीट में मोहिंदर कौर को ‘बिलकिस बानो’ बताते हुए उनको 100 रुपये में किराये पर प्रदर्शनकारी के रूप में बताया। यह बेहद गलत और अपनामजनक है। इसी कारण उन्‍होंने कंगना को कानूनी नोटिस भेजा है। नोटिस में कंगना रानौत को माफी मांगने के लिए सात दिन का समय दिया गया है। यदि इस अवधि ने कंगना रनोट ने माफी नहीं मांगी तो उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा चलाया जाएगा।

नोटिस में लिखा है कि, उक्त महिला के लिए इस तरह की निचली टिप्पणी का इस्तेमाल कर आपने न सिर्फ उक्त महिला के सम्मान को ठेस बहुंचाई है बल्कि उनकी छवि को भी धूमिल किया है। आपने (कंगना) प्रत्येक महिला के साथ-साथ प्रदर्शन में भाग लेने वाले सभी पुरुषों का भी अपमान किया है। आपके इस ट्वीट से इस तरह का भी संदेश मिलता है कि किसान आंदोलन में किराए पर लोगों को लाया जा रहा है।

गौरतलब है कि, बिलकिस बानो को शाहीनबाग की दादी भी कहा जाता है। वह नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान काफी लोकप्रिय हुई थीं। इसी की वजह से टाइम मैग्जीन ने उन्हें भारत के सौ सबसे ताकतवर लोगों की सूची में शामिल किया था। हालांकि, यह पहली बार नहीं है जब कंगना रनौत विवादों में रही हैं, इससे पहले भी वह मुंबई पर बयान को लेकर वह सुर्खियां बटोर चुकी हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here