“उस पर और आप पर शर्म आती है”: कथित व्हाट्सएप चैट मामले में अर्नब गोस्वामी का बचाव करने पर इंडियन आइडल के जज विशाल ददलानी ने एक्टिविस्ट पर साधा निशाना

0

हमेशा सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाले बॉलीवुड के मशहूर म्यूजिक डायरेक्टर और इंडियन आइडल के जज विशाल ददलानी ने एक्टिविस्ट राहुल ईश्वर के उस ट्वीट पर निशाना साधा है, जिसमें उन्होंने ‘रिपब्लिक टीवी’ के संस्थापक अर्नब गोस्वामी के कथित व्हाट्सएप चैट को लेकर उनका बचाव किया था। बता दें कि, टीआरपी के कथित घोटाला मामले में गिरफ्तार BARC के पूर्व CEO पार्थ दासगुप्ता और अर्नब गोस्वामी के कथित व्हाट्सएप चैट इस समय सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहे हैं। इन चैटों को लेकर गोस्वामी यूजर्स के निशाने पर आ गए हैं, लोग उनकी जमकर आलोचना कर रहे हैं।

विशाल ददलानी

सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे कथित व्हाट्सएप चैट में अर्नब गोस्वामी ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में CRPF के वाहन पर हुए आंतकी हमले पर भी कथित तौर पर टिप्पणी की थी। 14 फरवरी 2019 की एक कथित चैट में गोस्वामी BARC के पूर्व से कहते हैं कि, इस हमले से हमारी बड़ी जीत हुई हैं। वहीं, कुछ अन्य चैटों में अर्नब गोस्वामी ने कथित तौर पर बालाकोट में भारतीय सेना द्वारा किए गए एयर स्ट्राइक की जानकारी पहले से होने का भी दावा कर रहे है।इन चैटों को लेकर लोग अब गोस्वामी के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। इस बीच, एक्टिविस्ट राहुल ईश्वर ने अर्नब गोस्वामी का बचाव किया हैं।

राहुल ईश्वर ने अर्नब गोस्वामी के साथ अपनी एक तस्वीर शेयर करते हुए अपने ट्वीट में लिखा, ”मैं 12 साल से अर्नब गोस्वामी जी को जानता हूं। वह एक देशभक्त है जो हमारी मातृभूमि भारत से प्यार करता है। मैं उनके कई पदों से पूरी तरह असहमत हूं, लेकिन अर्नब ने हमारे राष्ट्र के लिए कुछ भी बुरा नहीं माना। #StayStrong #RepublicTV।” ईश्वर ने अपने इस ट्वीट में रिपब्लिक टीवी को भी टैंग किया हैं।

ईश्वर के इस ट्वीट पर विशाल ददलानी ने लिखा, “अगर उसने 40 सैनिकों की मौत को “बड़ी जीत” के रूप में मनाया और इसपर आप इसका बचाव करना चाहते हैं, तो आपकी अपनी देशभक्ति स्पष्ट रूप से संदिग्ध है। उस पर और आप पर शर्म आती है।”

गौरतलब है कि, जम्‍मू कश्‍मीर के पुलवामा में 14 फरवरी 2019 को जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों की बस को टक्कर मार दी थी, इस आतंकी हमले में CRPF के 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए थे। इस घटना ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था। पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के बाद 26 फरवरी 2019 को बालाकोट में स्थित जैश-ए-मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर पर हवाई हमला किया था।

एक अन्य ट्वीट में ददलानी ने लिखा, “किसी को यह बताने की जरूरत है कि यह कैसा है। यदि अर्नब को एक टॉप सीक्रेट के बारे में जानकारी थी, तो क्या यह आधिकारिक राज अधिनियम के तहत एक आपराधिक अपराध नहीं है? यदि ऐसा है, तो अर्नब के खिलाफ मुकदमा नहीं चलाया जाना चाहिए और रक्षा मंत्रालय, गृह मंत्रालय के खिलाफ जांच शुरू की जानी चाहिए।?”

कथित व्हाट्सएप चैट में गोस्वामी की प्रधानमंत्री कार्यालय और सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से नजदीकी दिखाते हैं, साथ में यह भी दिखाते हैं कि किस तरह उन्होंने अपनी पहुंच का दुरूपयोग किया। कथित व्हाट्सएप चैट में दासगुप्ता और अर्नब गोस्वामी के बीच कई और मुद्दों पर भी बातचीत हुई हैं।

अब ऐसे में सोशल मीडिया यूजर्स यह सवाल उठा रहे है कि, क्या भाजपा और मोदी सरकार सेना की खुफिया जानकारी भी अर्नब गोस्वामी के साथ साझा करती रही है। यूजर्स सवाल उठा रहे हैं कि, आखिरकार अर्नब को पुलवामा हमला, बालाकोट एयर स्ट्राइक आदि की जानकारी पहले से कैसे थी? यूजर्स गोस्वामी के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here