सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल: अयोध्या में हिन्दुओं ने कब्रिस्तान के लिए मुस्लिमों को दान में दी जमीन

0

एक तरफ जहां इस समय कुछ लोग पूरे देश में सांप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने की कोशिश में लगे हुए हैं, वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के अयोध्या में हिन्दुओं ने एकता की अनूठी मिसाल पेश की है जिसकी चारों तरफ जमकर सराहना हो रही है।गोंसाईगंज के बेलवारी खान के हिंदुओं ने मुस्लिमों को कब्रिस्तान के लिए जमीन दान में दी है।

अयोध्या
प्रतीकात्‍मक फोटो

भूमि दान कर्ता रीपदांद महाराज ने बताया कि सैकड़ों वर्षों से गोसाईगंज नगर और आसपास के मुसलमान उस जमीन का कब्रिस्तान के रूप में इस्‍तेमाल करते आए हैं लेकिन मालिकाना हक के लिए भूमि अब तक दोनों समुदायों के बीच विवाद का कारण रही है। स्थानीय संत सूर्य कुमार झिनकन महाराज और आठ अन्य शेयरधारकों ने विवाद को हमेशा के लिए खत्म करने के लिए 20 जून को 1.25 बिस्वा भूमि के लिए रजिस्‍ट्री पर दस्‍तखत किए।

उन्होंने बताया कि हम लोगों ने अपने पूर्वजों के दिए गए वचन को निभाते हुए खतौनी में चले आ रहे अपने मालिकाना हक को समाप्त करते हुए मुस्लिम कब्रिस्तान कमेटी के पक्ष में पंजीकृत दान पत्र लिख दिया है। भूमि अभिलेख के अन्य हस्ताक्षरकर्ता राम प्रकाश बबलू, राम सिंगार पांडे, राम शबद, जिया राम, सुभाष चंद्र, रीता देवी, विंध्याचल और अवधेश पांडे हैं।

इसके लिए मुस्लिम समुदाय के लोगों ने विधायक इंद्र प्रताप तिवारी खब्बू का आभार जताया। पहल करने वाले स्थानीय भाजपा विधायक खब्बू तिवारी ने कहा, “हिंदू-मुस्लिम भाईचारे की परंपरा कोई नई बात नहीं है। यह हिंदुओं का मुस्लिमों के लिए प्यार का एक छोटा सा नमूना है, मुझे उम्मीद है कि यह आपसी सौहार्द बना रहेगा।” झिंकली महाराज ने कहा, “जमीन रिकॉर्ड के अनुसार हिंदुओं की थी, यह एक कब्रिस्तान के किनारे है और कुछ मुसलमानों ने जमीन पर शवों को दफन कर दिया। विवाद और तनाव था लेकिन, अब हमने मामला सुलझा लिया है।”

कब्रिस्तान कमेटी के अध्यक्ष वैस अंसारी ने कहा डीड अब कब्रिस्तान कमेटी, गोसाईंगंज के पक्ष में है और इसे जल्द ही राजस्व रिकॉर्ड में दर्ज किया जाएगा। यह बहुत अच्छी पहल है, इसका हम स्वागत करते हैं। उप-पंजीयक एस़.बी. सिंह ने कब्रिस्तान के लिए मुसलमानों को भूमि हस्तांतरित करने की पुष्टि की और कहा कि यह हिंदू समुदाय की ओर से एक उपहार है। (इनपुट: आईएएनएस के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here