पत्रकार गौरी लंकेश हत्याकांड: कर्नाटक के गृहमंत्री का दावा- SIT के हाथ लगे सुराग

0

वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के मामले को लेकर कर्नाटक के गृहमंत्री रामलिंगा रेड्डी ने सोमवार को कहा कि उनकी हत्या के मामले की तफ्तीश कर रहे विशेष जांच दल के हाथ कुछ सुराग लगे हैं, लेकिन उनके खिलाफ सबूतों का अभाव है।

journalist killing
(AFP Photo)

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने कहा है कि जब तक पर्याप्त सबूत नहीं मिल जाते तब तक हत्यारों की पहचान सार्वजनिक नहीं की जाएगी। साथ ही उन्होंने कहा कि, टीम और सबूत इकट्ठा कर रही है और जल्द ही जांच पूरी हो जाएगी। उन्होंने इस संबंध में और अधिक जानकारी देने से इनकार कर दिया है।

बता दें कि, कर्नाटक सरकार ने गौरी लंकेश प्रकरण में जांच के लिए आईजीपी (इंटेलिजेंस) बीके सिंह की अध्यक्षता में विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया था और गौरी लंकेश की हत्या से जुड़ा सुराग देने पर 10 लाख रुपये का इनाम भी घोषित किया था।

गौरतलब है कि, दक्षिण पंथी विचारधारा के खिलाफ लिखने वाली वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की 5 सितंबर को उनके घर के बाहर अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।

गौरी वीकली टैबलॉइड ‘गौरी लंकेश पत्रिके’ की एडिटर थीं और इस टैबलॉइड के जरिए गौरी लगातार कम्युनल पॉलिटिक्स और कास्ट सिस्टम के खिलाफ लिखती थीं। वे राइट विंग और हिंदुत्व पॉलिटिक्स की भी विरोधी थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here