शर्मनाक: भोपाल में 10 साल की मासूम बच्ची से 3 महीने तक गैंगरेप, 65 वर्षीय व्यक्ति समेत 4 आरोपी गिरफ्तार

0

बीजेपी शासित राज्य मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोचिंग क्लास से लौटते वक्त 19 वर्षीय छात्रा के साथ गैंगरेप का सनसनीखेज मामला अभी शांत भी नहीं हुआ है कि अब भोपाल में ही एक 10 साल की बच्ची के साथ पिछले कई महीने से गैंगरेप का मामला सामने आया है। पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए महिला समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

फोटो- NDTV

ख़बरों के मुताबिक, जब सबूत जुटाने के लिए इन आरोपियों को घटनास्थल पर ले जाया गया तो उस आक्रोशित लोगों ने तीनों की जमकर पिटाई कर दी। इन आरोपियों में 65 साल का एक शख्स भी शामिल है। इस मामले में 50 साल की एक महिला को भी गिरफ्तार किया गया है, जिसने इस जघन्य अपराध में इन तीनों आरोपियों की मदद की थी।

जहांगीराबाद क्षेत्र के नगर पुलिस अधीक्षक भारतेंदु शर्मा ने बताया कि जहांगीराबाद क्षेत्र में रहने वाले एक परिवार की मासूम बच्ची जब स्कूल जाती, तो उसे पड़ोस में रहने वाली महिला टॉफी का लालच देकर अपने साथ ले जाती और तीन युवकों के हवाले कर देती। भारतेंदु शर्मा के मुताबिक यह सिलसिला कई माह तक चलता रहा।

उन्होंने बताया कि बच्ची के पिता की मौत हो चुकी है, जबकि मां दूसरे के घरों में काम करके गुजारा करती है। उसकी एक बड़ी बहन भी है। शर्मा के मुताबिक बहन जब कई बार देर से आने की वजह पूछती थी, तो वह कुछ नहीं बताती थी। बाद में तबीयत बिगड़ने पर मासूम ने मां को आपबीती सुनाई। इसके बाद थाने पहुंची मां ने इस बारे में शिकायत दर्ज कराई।

शिकायत के आधार पर पुलिस ने एक महिला और तीन आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। आरोपियों की पहचान नन्हू लाल(65), गोकुल पानवाला(45) एवं ज्ञानेंद्र पंडित(36) के साथ-साथ इस कृत्य में उनकी मदद करने वाली महिला सुमन पांडे(50) को पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार किया।

पुलिस के मुताबिक, जांच में पता चला है कि पिछले तीन महीनों में इन तीनों दरिंदों ने सुमन के घर पर इस बच्ची के साथ दो-तीन बार दुष्कर्म किया। पुलिस के मुताबिक आखिरी बार आरोपियों ने इस बच्ची के साथ 12 नवंबर को दुष्कर्म किया।

एनटीडीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, तीनों आरोपियों को जब अगले दिना यानी शुक्रवार(17 नवंबर) की शाम घटनास्थल पर ले जाते समय लोगों ने पिटाई कर दी। आक्रोशित लोगों से इन आरोपियों को बचाने के लिए पुलिसकर्मियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी। आरोपियों को अदालत में पेश किया गया, जहां से सभी को 29 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

कोचिंग से लौट रही 19 वर्षीय छात्रा से गैंगरेप

गौरतलब है कि इससे पहले भोपाल में ही एक नवंबर की रात कोचिंग से लौट रही 19 वर्षीय छात्रा से भी गैंगरेप का मामला सामने आया था। इतना ही नहीं उन्होंने छात्रा की जान लेने की भी कोशिश की थी, इस मामले में चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। पीड़ित छात्रा पुलिसकर्मी की बेटी थी, लेकिन इसके बावजूद मामला दर्ज कराने में उसे काफी मशक्कत करनी पड़ी थी।

छात्रा ने बयां किया अपना दर्द

इस दरिंदगी का शिकार हुई छात्रा ने मीडिया के सामने आकर अपना दर्द बयां किया था और पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए थे। पीड़ित छात्रा ने कहा था कि, वह अपने पिता के साथ इस थाने से उस थाने भटकी रही। लेकिन मदद के लिए कोई पुलिसवाला नहीं आया,पीड़िता ने आरोपियों के खिलाफ कड़ी सजा की मांग भी की है। पीड़िता ने कहा था कि ऐसे लोगों को जीवित नहीं छोड़ा जाना चाहिए और चारों को चौराहे पर फांसी लगाना चाहिए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here