लाल किला हिंसा मामले में वीडियो जारी कर दीप सिद्धू ने दी सफाई, किसान नेताओं को दी चेतावनी; कहा- मैंने मुंह खोला तो कई होंगे बेनकाब

1

गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किले पर प्रदर्शनकारियों द्वारा एक धार्मिक झंडा फहराए जाने को लेकर व्यापक आक्रोश के बीच घटना के दौरान मौजूद व्यक्तियों में शामिल अभिनेता दीप सिद्धू ने अपना एक वीडियो जारी कर सफाई दी है। सिद्धू ने कहा कि उसके आंदोलन के लोग ही उस पर सवाल खड़े कर रहे हैं। इसके साथ ही दीप सिद्धू ने कहा कि अगर मैंने मुंह खोला तो कई किसान नेता बेनकाब हो जाएंगे।

दीप सिद्धू

दीप सिद्धू ने अपने वीडियो में कहा कि, किसान नेता कह रहे हैं कि सिद्धू के कारण हिंसा हुई है तो इन नेताओं को पंजाब लौट जाना चाहिए। दीप ने कहा कि, लाल किले पर क्या हुआ और किसके कहने पर हुआ जब सच सामने आएगा तो सारे किसान नेता आंदोलन छोड़कर भाग खड़े होंगे। इसके साथ ही दीप सिद्धू ने सवाल उठाते हुए पूछा- अगर किसान मेरे कहने पर ही दिल्ली में काम कर रहे हैं तो केंद्रीय मंत्रियों के साथ बैठकें करने वाले किसान नेता यहां क्या रहे हैं।

हिंसा करवाने की बात पर सिद्धू ने सवाल किया कि कौन सी हिंसा की गई। हमने लाल किले में किसी प्रापर्टी को नुकसान नहीं पहुंचाया। दिल्ली पुलिस के बारे में सिद्धू ने कहा कि पुलिस ने हमें कहा कि जो करना है, शांतिपूर्वक करो और यहां से जाओ। भाजपा और आरएसएस से रिश्तों पर सिद्धू ने कहा कि ये सब गलत है। उन्होंने कांग्रेस से भी रिश्तों को नकारा।

बता दें कि, लाल किले पर प्रदर्शनकारियों द्वारा धार्मिक झंडा फहराए जाने की घटना और दिल्ली में हिंसा को लेकर किसान नेताओं ने दीप सिद्धू को आड़े हाथों लिया है और हिंसा फैलाने और हिंसा को भड़काने का आरोप लगाया।

बता दें कि, लाल किले से सिद्धू का वीडियो वायरल हुआ था। जिसके बाद किसान नेताओं ने दीप सिद्धू से पल्ला झाड़ लिया था। संयुक्त किसान मोर्चा ने किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के प्रधान कुलवंत सिंह पन्नू, महासचिव सरवण सिंह पंधेर के साथ अभिनेता दीप सिद्धू को उपद्रव के लिए जिम्मेदार ठहराया है। संयुक्त मोर्चा के नेता व भाकियू (राजेवाल) के प्रधान बलबीर सिंह राजेवाल के अनुसार संयुक्त मोर्चा ने इन सभी से अपना नाता तोड़ लिया है।

इन सबके बीच किसान नेताओं पर सवाल उठ रहे हैं कि जब किसान नेता जानते थे कि दीप सिद्धू लोगों को खासकर युवाओं को भड़का रहा था तो उसे रोका और बाहर का रास्ता क्यों नहीं दिखाया गया। जब कहा जा रहा था कि कुछ खालिस्तान समर्थक और नक्सली आंदोलन में घुसपैठ कर चुके हैं तो मोर्चा के नेता चुप क्यों रहे।

कौन हैं दीप सिद्धू?

दीप सिद्धू पंजाबी फिल्मों के अभिनेता हैं और सामाजिक कार्यकर्ता भी। दीप ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत पंजाबी फिल्म रमता जोगी से की थी, जिसे लेकर कहा जाता है कि इसके निर्माता धर्मेंद्र हैं। दीप सिद्धू का जन्म साल 1984 में पंजाब के मुक्तसर जिले में हुआ है। दीप ने कानून की पढ़ाई की है। वह किंगफिशर मॉडल अवार्ड भी जीत चुके हैं। 17 जनवरी को सिख फॉर जस्टिस से जुड़े केस के सिलसिले में एनआईए ने सिद्धू को तलब भी किया था।

1 COMMENT

  1. JAAT JAYANT CHAHAR
    47 minutes ago
    भारत एक मात्र ऐसा देश है..
    जहाँ भगवान का डर दिखाकर “दान पेटी” और
    पाकिस्तान का डर दिखाकर “मतदान पेटी” भरी जाती है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here