BJP सांसद सनी देओल के लिए किया प्रचार, पीएम मोदी संग तस्वीर वायरल; जानें कौन हैं अभिनेता दीप सिद्धू? जिस पर किसानों को भड़काने के लगे आरोप, लाल किले की घटना पर दी सफाई

0

गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किले पर प्रदर्शनकारियों द्वारा एक धार्मिक झंडा फहराए जाने को लेकर व्यापक आक्रोश के बीच घटना के दौरान मौजूद व्यक्तियों में शामिल अभिनेता दीप सिद्धू ने मंगलवार को प्रदर्शनकारियों के कृत्य का यह कहते हुए बचाव किया कि उन लोगों ने राष्ट्रीय ध्वज नहीं हटाया और केवल एक प्रतीकात्मक विरोध के तौर पर ‘निशान साहिब’ को लगाया था। बता दें कि, लाल किले पर प्रदर्शनकारियों द्वारा धार्मिक झंडा फहराए जाने की घटना और दिल्ली में हिंसा को लेकर किसान नेताओं ने दीप सिद्धू को आड़े हाथों लिया है और हिंसा फैलाने और हिंसा को भड़काने का आरोप लगाया।

दीप सिद्धू

दीप सिद्धू ने फेसबुक पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में कहा कि उन्हें कोई साम्प्रदायिक रंग नहीं दिया जाना चाहिए जैसा कट्टरपंथियों द्वारा किया जा रहा है। सिद्धू ने कहा, ‘‘नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रतीकात्मक रूप से अपना विरोध दर्ज कराने के लिए, हमने ‘निशान साहिब’ और किसान झंडा लगाया और साथ ही किसान मजदूर एकता का नारा भी लगाया।’’ उन्होंने ‘निशान साहिब’ की ओर इशारा करते हुए कहा कि झंडा देश की ‘‘विविधता में एकता’’ का प्रतिनिधित्व करता है। ‘निशान साहिब’ सिख धर्म का एक प्रतीक है जो सभी गुरुद्वारा परिसरों पर लगा देखा जाता है।

उन्होंने कहा कि लालकिले पर ध्वज-स्तंभ से राष्ट्रीय ध्वज नहीं हटाया गया और किसी ने भी देश की एकता और अखंडता पर सवाल नहीं उठाया। पिछले कई महीनों से किसान आंदोलन से जुड़े सिद्धू ने कहा कि जब लोगों के वास्तविक अधिकारों को नजरअंदाज किया जाता है तो इस तरह के एक जन आंदोलन में ‘‘गुस्सा भड़क उठता है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आज की स्थिति में, वह गुस्सा भड़क गया।’’

BJP सांसद सनी देओल के लिए किया था प्रचार, पीएम मोदी संग तस्वीर वायरल:

भले ही अभिनेता और गुरदासपुर सीट से भाजपा सांसद सनी देओल ने दीप सिद्धू से अपने रिश्ते ना होने के दावे किए हों, लेकिन यह बात जरूर है कि दीप 2019 के चुनाव में उनके चुनाव प्रभारी थे। किसान संगठनों का दावा है कि सिद्धू ने 2019 के लोकसभा चुनाव में सिद्धू के लिए गुरदासपुर में जमकर प्रचार किया था। दावा किया जा रहा है कि, 2019 के लोकसभा चुनाव में सनी देओल के पूरे प्रचार में वह उनके साथ रहे थे। सिद्धू और सनी के संबंध ऐसे थे, कि सनी उन्हें अपने साथ पीएम मोदी से मिलवाने दिल्ली तक ले गए थे। 28 अप्रैल 2019 को हुई मुलाकात की यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

कहा जा रहा है कि, पिछले साल दिसंबर में किसानों के आंदोलन में शामिल होने के बाद भाजपा सांसद सनी देओल ने सिद्धू से दूरी बना ली थी। इतना ही नहीं, जब दीप सिद्धू की तस्वीरें वायरल हुई तो सनी देओल ने ट्वीट किया और लिखा, ‘आज लाल क़िले पर जो हुआ उसे देख कर मन बहुत दुखी हुआ है, मैं पहले भी 6 दिसंबर को ट्विटर के माध्यम से यह साफ कर चुका हूं कि मेरा या मेरे परिवार का दीप सिद्धू के साथ कोई संबंध नही है। जय हिन्द’

कौन हैं दीप सिद्धू?

दीप सिद्धू पंजाबी फिल्मों के अभिनेता हैं और सामाजिक कार्यकर्ता भी। दीप ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत पंजाबी फिल्म रमता जोगी से की थी, जिसे लेकर कहा जाता है कि इसके निर्माता धर्मेंद्र हैं। दीप सिद्धू का जन्म साल 1984 में पंजाब के मुक्तसर जिले में हुआ है। दीप ने कानून की पढ़ाई की है। वह किंगफिशर मॉडल अवार्ड भी जीत चुके हैं। 17 जनवरी को सिख फॉर जस्टिस से जुड़े केस के सिलसिले में एनआईए ने सिद्धू को तलब भी किया था।

गुरनाम सिंह ने दीप सिद्धू पर लगाया किसानों को बहकाने का आरोप:

हरियाणा के किसान नेता और भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने पंजाबी अभिनेता दीप सिद्धू पर किसानों को बहकाने का आरोप लगाया है। गुरनाम सिंह ने मंगलवार को लालकिला पर हुए हंगामे के लिए दीप सिद्धू को जिम्मेदार ठहराया। भाकियू नेता ने एक वीडियो संदेश में कहा, “आज उसने (दीप सिद्धू) जो किया है वह अति निंदनीय है। लालकिला जाने का हमारा कोई कार्यक्रम नहीं था। वह बागी होकर वहां गया और लोग भी उसके बहकावे में गए। उन्हें नहीं मालूम था कि वह लालकिला ले जाएगा।”

चढ़ूनी ने कहा कि दीप सिद्धू बहुत दिन पहले से गढ़बढ़ कर रहे हैं और किसान नेताओं के खिलाफ बोलते हैं। भाकियू नेता गुरनाम सिंह ने कहा कि यह किसानों का आंदोलन है न कि धार्मिक आंदोलन। उन्होंने किसान गणतंत्र परेड के दौरान हुई हिंसा की भी निंदा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here