चंडीगढ़ छेड़खानी मामला: थाने में पेशी के बाद आरोपी विकास बराला गिरफ्तार

0

चंडीगढ़ छेड़खानी मामले में मुख्य आरोपी विकास बराला और उसके दोस्त को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि समन भेजे जाने के बाद दोनों आरोपी बुधवार(9 अगस्त) को चंडीगढ़ के सेक्टर-26 स्थित पुलिस स्टेशन में पेश हुए, जहां पूछताछ के बाद दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। हरियाणादोनों आरोपियों को पुलिस कल सुबह कोर्ट में पेश करेगी। चंडीगढ़ पुलिस के डीजीपी तेजेंद्र लूथरा ने बुधवार को मीडिया से बातचीत में यह जानकारी दी। बता दें कि विकास बराला हरियाणा बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला का बेटा है। पुलिस ने विकास को नोटिस भेजकर पूछताछ के लिए पुलिस स्टेशन बुलाया था।

विकास को थाने में सुबह 11 बजे बुलाया गया था, लेकिन वह दोपहर करीब ढाई बजे पुलिस स्टेशन में पहुंचा, जहां उसे पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया। डीजीपी ने बताया कि विकास बराला के खिलाफ अपहरण की कोशिश की गैरजमानती धाराएं जोड़ी गई हैं।

इससे पहले इस मामले में विकास बराला के पिता और हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। उनकी प्रेस कॉन्फ्रेंस पूरी तरह नाटकीय रही और वो बीच में ही उठकर चले गए। दरअसल, प्रेस कॉन्फेंस के दौरान बीच में हरियाणा बीजेपी प्रवक्ता जवाहर यादव ने उनको फोन पकड़ा दिया और कहा कि विकास बराला का फोन आया है, जिसके बाद वो फोन लेकर अंदर चले गए और प्रेस कॉन्फ्रेंस को पूरा बताते हुए खत्म कर दिया गया।

इस दौरान सुभाष बराला ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया था कि विकास बराला 10 से 15 मिनट में पुलिस के सामने पेश होगा। बराला ने कहा कि उनका बेटा विकास पुलिस को जांच में पूरी तरह सहयोग करेगा और अगर वह जांच के दौरान दोषी भी पाया जाता है तो उस पर कानून डटकर कार्रवाई करेगा। इसी बीच में ही सुभाष बराला को उनके बेटे का फोन आया और वह कॉन्फ्रेंस अधूरी छोड़ बीच में ही उठकर चल दिए।

इस मामले में सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद से ही इस बात की आशंका जताई जा रही थी कि कुछ और धाराएं जोड़कर आरोपी विकास को दोबारा गिरफ्तार कर सकती है। बता दें कि हरियाणा में एक लड़की वर्णिका कुंडू का कथित रूप से पीछा करने के आरोप में शनिवार(5 अगस्त) को विकास बराला (23) और उसके दोस्त आशीष कुमार (22) को गिरफ्तार किया गया, लेकिन कुछ देर बाद ही दोनों को जमानत पर छोड़ दिया गया।

पूरे देश में इस घटना की निंदा हो रही है। इस मामले में सुभाष बराला चौतरफा घिर गए हैं। बीजेपी के भीतर और विपक्ष की ओर से भी उनपर इस्तीफे का दबाव है। इससे पहले मंगलवार(8 अगस्त) को पहली बार मीडिया के सामने आए सुभाष बराला ने कहा कि वर्णिका(पीड़िता) मेरी बेटी की तरह है। उसे न्याय जरूर मिलेगा।

उन्होंने कहा कि विकास के खिलाफ कानून के मुताबिक कार्रवाई होनी चाहिए। मेरा और बीजेपी का इस मामले से कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने दावा किया है कि वह अपने बेटे को बचाने के लिए किसी तरह का दबाव नहीं बना रहे हैं। बीजेपी नेता ने कहा कि, ‘बीजेपी महिलाओं के अधिकार और स्वतंत्रता की बात करने वाली पार्टी है। वर्णिका मेरी बेटी जैसी है। जांच को प्रभावित करने के लिए कोई दबाव नहीं डाला जा रहा है।’

क्या है पूरा मामला? 

दरअसल, हरियाणा में एक आईएएस अधिकारी की बेटी ने हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला पर छेड़छाड़ और पीछा करने का आरोप लगाया है। लड़की का आरोप है कि विकास बराला और उसका दोस्त आशीष कुमार एक पेट्रोल पंप से ही उनकी कार का पीछा कर रहे थे और कार का दरवाजा खोलने की कोशिश की। पीड़ित लड़की का आरोप है कि उसके द्वारा कई बार फोन करने पर पुलिस वहां पहुंची और दोनों लड़कों को गिरफ्तार कर लिया।

मगर गिरफ्तारी के कुछ घंटों बाद ही उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया। पीड़ित लड़की और उसके पिता (वरिष्ठ आईएएस) ने अपने फेसबुक पर पूरी घटना का ब्योरा पोस्ट किया है। अपनी फेसबुक पोस्ट में पीड़ित युवती ने लिखा, ‘ऐसा लग रहा है कि मैं सौभाग्यशाली हूं कि मैं आम आदमी की बेटी नहीं हूं… मैं इसलिए भी खुशकिस्मत हूं कि न तो मेरा रेप हुआ और न ही मैं मरी हुई पाई गई।’

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here