साक्षी महाराज के बाद एक और BJP सासंद ने राम रहीम का किया बचाव, कहा- महान संतों के साथ ऐसे बर्ताव से सहमत नहीं

0

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख बाबा गुरमीत राम रहीम को साध्वी यौन शोषण मामले में सोमवार(28 अगस्त) को 20 साल की सजा सुनाई गई। इसी बीच बीजेपी सांसद पुष्पेंद्र सिंह चंदेल का बेहद ही चौकाने वाला बयान सामने आया है, पुष्पेंद्र सिंह चंदेल का कहना है कि राम रहीम पर लगे आरोप और सजा देने से वह सहमत नहीं हैं।

राम रहीम

हिन्दुस्तान की ख़बर के मुताबिक, मंगलवार(29 अगस्त) को मौदहा के पाण्डव गेस्ट हाउस में आयोजित भारत मंथन कार्यक्रम में सांसद ने कहा कि वह राम-रहीम और आशाराम जैसे महान संतों के साथ इस तरह के बर्ताव से सहमत नहीं है। साथ ही उन्होंने कहा कि, अनुयायियों की आस्था को ठेस न पहुंचे, इस पर ध्यान देना चाहिए।

उन्होंने आगे कहा कि जिन संतों के लाखों-करोड़ों भक्त हों उनको किसी व्यक्तिगत शिकायत व तहरीर के आधार पर इस कदर अपमानित करना कष्टप्रद है हालांकि उन्होंने कहा कि कोर्ट का आदेश सर्वोपरि है। इतना ही नहीं उन्होंने संत आशाराम बापू के पक्ष में बोलते हुए कहा कि, संत आशाराम बापू पर जो आरोप लगे हैं वह बेबुनियाद हैं, इसके सबूत भी मिलने लगे हैं।

हालांकि बाद में उन्होंने कहा कि यह उनकी व्यक्तिगत राय है, पार्टी से इसका कोई लेना-देना नहीं है। ख़बरों के मुताबिक, सांसद के इस बयान पर कुछ देर के लिए हाल में मौजूद भाजपाई भी सकते में आ गए, उनके इस बयान को लेकर लोगों में चर्चा होने लगी।

आपको बता दें कि, इससे पहले जब शुक्रवार(25 अगस्त) को राम रहीम को साध्वी यौन शोषण मामले में सीबीआई कोर्ट ने दोषी करार दिया था तब बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने राम रहीम का पक्ष लिया था। साक्षी महाराज ने कहा था कि, राम रहीम पर एक महिला ने यौन शोषण के आरोप लगाये हैं लेकिन उनके पीछे करोड़ों लोग खड़े हैं उनकी आवाज क्यों नहीं सुनी जा रही है।

उन्होंने कहा कि अगर इससे भी बड़ी कोई वारदात होती है तो इसके लिए सिर्फ डेरा के समर्थक ही नहीं बल्कि न्यायालय भी जिम्मेदार होगा। साथ ही उन्होंने कहा कि योजनाबद्ध तरीके से भारतीय संस्कृति को बदनाम करने की साजिश हो रही है। साथ ही साक्षी महाराज ने कहा कि साधु संन्यासियों को बदनाम करने के लिए षड़यंत्र किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों की अस्मिता खतरे में है इसलिए साजिश रची जा रही है।

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here