क्या हिंसा की रात कोलकाता में तेजिंदर बग्गा की मौजूदगी अमित शाह पर लग रहे खतरनाक प्लान के आरोपों को सही साबित करती है?

0

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में हुई हिंसा को लेकर बुधवार को हुई भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की प्रेस कांफ्रेंस के बाद राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने भी पलटवार किया है। टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने बुधवार को एक प्रेस कांफ्रेंस कर आरोप लगाया कि बंगाल के बाहर से गुंडे लाए गए थे। डेरेक ओ ब्रायन ने बीजेपी नेता तजिंदर सिंह बग्गा के बारे में कहा कि बग्गा को गिरफ्तार किया गया है। यह वो ही हैं जिन्होंने दिल्ली में किसी को थप्पड़ मारा था।

तृणमूल सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने प्रेस कॉन्फेंस में संवाददाताओं से बातचीत के दौरान भारतीय जनता पार्टी के दिल्ली इकाई के प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा, कोई भी व्यक्ति आकर रैली कर सकता है, लेकिन बाहरियों का क्या? तेजिंदर बग्गा कौन है? वह एक बार गिरफ्तार भी हो चुका है, क्या वह वही शख्स नहीं है जिसने दिल्ली में एक व्यक्ति को थप्पड़ मारा था? उन्होंने कहा कि अमित शाह ने बंगाल के बाहर से गुंडे बुला रखे थे।

इसके साथ ही टीएमसी प्रवक्ता ने कहा कि हम लोगों के पास सबूत के तौर पर दो तस्वीरें हैं, इसका संबंध चुनाव से है। हमारी केंद्रीय सुरक्षाबलों के साथ व्यक्तिगत रंजिश नहीं है। हम लोगों के पास दो चौंकाने वाली फोटो हैं जिससे साबित होता है कि बंगाल में केंद्रीय सुरक्षा बल भाजपा के साथ हैं।

तृणमूल कांग्रेस नेता डेरक ओ ब्रायन ने कहा, ‘‘वीडियो न सिर्फ स्पष्ट रूप से यह स्थापित करता है कि भाजपा ने क्या किया बल्कि यह भी साबित करता है कि उसके प्रमुख अमित शाह झूठे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘कोलकाता की सड़कों पर स्तब्धता और गुस्सा है। कल जो हुआ उसने बंगाली गौरव को आहत किया। टीएमसी अपने पास मौजूद वीडियो चुनाव आयोग को सौंपेगी और उन्हें प्रमाणित कर रही है।’’

बग्गा ने टीएमसी के आरोपों को किया खारिज

वहीं, टीएमसी के आरोपों को खारिज करते हुए तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने कहा कि कोई भी डेरेक ओ ब्रायन को गंभीरता से नहीं लेता। मैं उन्हें चुनौती देता हूं कि वह साबित करके दिखाएं कि जहां हिंसा हुई मैं उसके 500 मीटर के दायरे में भी रहा होऊं। अगर मैं गलत साबित हुआ तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा या फिर अगर वो गलत साबित हुए तो उन्हें राजनीति छोड़ देनी चाहिए।

इसके अलावा बग्गा ने ट्वीट कर कहा है कि आप सभी मित्रों के सहयोग, समर्थन के लिए दिल से धन्यवाद। ममता बनर्जी के दबाव में पूरी रात कोलकाता पुलिस ने सबूत ढूंढे की कोई सीसीटीवी फुटेज/तस्वीर में मेरी कोई ऐसी तस्वीर मिल जाए जिसे हिंसा के साथ जोड़ा जा सके लेकिन कोई सबूत न मिलने पर मजबूरी में मुझे छोड़ना पड़ा।

ममता बनर्जी ने भी शाह पर लगाया बाहरी लोगों को बुलाने का आरोप

हिंसा में ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा टूटने का मुद्दे ने राजनीतिक रंग ले लिया है। एकतरफ जहां टीएमसी इस हिंसा का आरोप बीजेपी पर लगा रही है तो वहीं बीजेपी इस हिंसा के लिए ममता बनर्जी को जिम्मेदार बता रही है। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख एवं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बनर्जी ने भगवा पार्टी पर आरोप लगाते हुए बुधवार को ‘भाजपा के गुंडो’ द्वारा विद्यासागर कॉलेज में आगजनी और हमले की कड़ी निंदा की और कहा कि भाजपा के खिलाफ हर वोट मधुर और पूर्ण प्रतिशोध होगा।

उन्होंने बुधवार को हिंसा के बाद कहा, “अमित शाह कोलकाता में आज एक रैली करने आए। वह अपने साथ राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड के लोग लेकर आए। रैली के खत्म होते ही भाजपा के गुंडों ने रैली से बाहर निकल विद्यासागर कॉलेज में आगजनी की। उन्होंने विद्यासागर की प्रतिमा भी तोड़ दी। यह पहले कभी नहीं हुआ। हम उन्हें नहीं छोड़ेंगे, हम उन्हें वोट के जरिए मुंहतोड़ जवाब देंगे।”

अमित शाह ने किया पटलवार

वहीं, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा के लिए राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए बुधवार को आरोप लगाया कि चुनाव आयोग ‘‘मूक दर्शक’’ बना हुआ है। एक संवाददाता सम्मेलन में शाह ने यह भी कहा कि मंगलवार को जब कोलकाता में उनके काफिले पर कथित हमला किया गया तब वह सीआरपीएफ की सुरक्षा के बिना, सकुशल बच कर नहीं निकल पाते। शाह ने कहा कि आम चुनाव के अब तक संपन्न सभी छह चरणों के मतदान के दौरान केवल पश्चिम बंगाल में हिंसा हुई, और कहीं से भी ऐसी किसी घटना की खबर नहीं है।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि आम चुनाव के अब तक संपन्न सभी छह चरणों के मतदान के दौरान केवल पश्चिम बंगाल में हिंसा हुई, और कहीं से भी ऐसी किसी घटना की खबर नहीं है तृणमूल कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि उनके रोड शो से पहले ही वहां लगे भाजपा के पोस्टर फाड़ दिए गए। ‘‘रोड शो शुरू हुआ, जिसमें अभूतपूर्व जनसैलाब उमड़ा। करीब ढाई घंटे तक शांतिपूर्ण तरीके से रोड शो चला।’’ शाह ने कहा कि इसके बाद 3 बार हमले किए गए और तीसरे हमले में तोड़फोड़ तथा आगजनी हुई ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here