VIDEO: बंगाल में हुई हिंसा के लिए पीएम मोदी ने मीडिया को ठहराया जिम्मेदार, बोले- ‘जब तक पत्रकारों की पिटाई नहीं हुई, तब तक लोकतंत्र खतरे में नहीं लगा’

0

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा के लिए राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए बुधवार को आरोप लगाया कि चुनाव आयोग ‘‘मूक दर्शक’’ बना हुआ है। दिल्ली में बुधवार को एक प्रेस कॉन्फेंस में शाह ने यह भी कहा कि मंगलवार को जब कोलकाता में उनके काफिले पर कथित हमला किया गया तब वह सीआरपीएफ की सुरक्षा के बिना, सकुशल बच कर नहीं निकल पाते। शाह ने कहा कि आम चुनाव के अब तक संपन्न सभी छह चरणों के मतदान के दौरान केवल पश्चिम बंगाल में हिंसा हुई, और कहीं से भी ऐसी किसी घटना की खबर नहीं है।

प्रेस कॉन्फेंस के दौरान भाजपा अध्यक्ष ने टीएमसी के उस आरोप का खंडन किया कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ी। भाजपा अध्यक्ष ने कुछ तस्वीरें दिखाकर दावा किया कि मंगलवार को हुए रोड शो में हिंसा टीएमसी के लोगों ने की और टीएमसी के ही गुंडों ने ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा भी तोड़ी। शाह ने कहा, ‘‘जहां समाज सुधारक ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा रखी है वह जगह कमरों के अंदर है। कॉलेज बंद हो चुका था, ताला लग चुका था, फिर किसने कमरे खोले? ताला भी नहीं टूटा, तो चाबी किसके पास थी? कॉलेज में तृणमूल कांग्रेस का कब्जा है।’’

तृणमूल कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि उनके रोड शो से पहले ही वहां लगे भाजपा के पोस्टर फाड़ दिए गए। ‘‘रोड शो शुरू हुआ, जिसमें अभूतपूर्व जनसैलाब उमड़ा। करीब ढाई घंटे तक शांतिपूर्ण तरीके से रोड शो चला।’’ शाह ने कहा कि इसके बाद 3 बार हमले किये गए और तीसरे हमले में तोड़फोड़ तथा आगजनी हुई । उन्होंने दावा किया कि सुबह से पूरे कोलकाता में चर्चा थी कि यूनिवर्सिटी से आकर कुछ लोग दंगा करेंगे। न तो पुलिस ने कोई जांच की और न ही किसी को गिरफ्तार किया गया।

पीएम मोदी ने मीडिया पर साधा निशाना

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा के लिए देश की मीडिया को जिम्मेदार ठहराते हुए तीखा हमला बोला है। न्यूज एक्स चैनल से बातचीत के दौरान बंगाल में हुई हिंसा के बारे में पूछे जाने पर पीएम मोदी ने कहा, “बंगाल की ऐसी स्थिति (हिंसा) के लिए आप सभी मीडिया वाले जिम्मेदार हो। जब तक आप मीडिया वालों की पिटाई नहीं हुई, तब तक आप लोगों को लोकतंत्र खतरे में नहीं लगा।” पीएम मोदी ने कहा कि वहां सैकड़ों लोगों की मौत हो गई, लेकिन ने देश की मीडिया चुप रही, क्योंकि उनको मोदी से विरोध था। उन्होंने कहा कि अगर उस वक्त मीडिया चुप्पी नहीं साधती तो आज यह स्थिति देखने को मिलती।

ममता बनर्जी ने बीजेपी ने लगाया आरोप

हिंसा में ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा टूटने का मुद्दे ने राजनीतिक रंग ले लिया है। एकतरफ जहां टीएमसी इस हिंसा का आरोप बीजेपी पर लगा रही है तो वहीं बीजेपी इस हिंसा के लिए ममता बनर्जी को जिम्मेदार बता रही है। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख एवं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बनर्जी ने भगवा पार्टी पर आरोप लगाते ‘भाजपा के गुंडो’ द्वारा विद्यासागर कॉलेज में आगजनी और हमले की कड़ी निंदा की और कहा कि भाजपा के खिलाफ हर वोट मधुर और पूर्ण प्रतिशोध होगा।

उन्होंने हिंसा के बाद कहा, “अमित शाह कोलकाता में आज एक रैली करने आए। वह अपने साथ राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड के लोग लेकर आए। रैली के खत्म होते ही भाजपा के गुंडों ने रैली से बाहर निकल विद्यासागर कॉलेज में आगजनी की। उन्होंने विद्यासागर की प्रतिमा भी तोड़ दी। यह पहले कभी नहीं हुआ। हम उन्हें नहीं छोड़ेंगे, हम उन्हें वोट के जरिए मुंहतोड़ जवाब देंगे।”

सोशल मीडिया पर बदली DP

साथ ही ममता बनर्जी ने फेसबुक और ट्विटर पर अपनी डीपी (प्रोफाइल पिक्चर) बदलकर ईश्वर चंद्र विद्यासागर की फोटो लगा ली है। वहीं, ममता के अलावा टीएमसी के करीब सारे बड़े नेताओं ने भी सोशल साइट पर डीपी के तौर पर ईश्वरचंद्र विद्यासगर की तस्वीर लगा ली है। इसके जरिए टीएमसी ने भाजपा को घेरने के लिए इस मुद्दे को बंगाल के सम्मान से जोड़ दिया है। इसके साथ ही टीएमसी आज इस मुद्दे पर विरोध प्रदर्शन भी कर रही है।

 

वाम मोर्चा का भी प्रदर्शन

विद्यासागर कालेज हॉस्टल में ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा को खंडित किए जाने की घटना ने ज्वलंत रूख अख्तियार कर लिया है और टीएमसी के साथ ही वाम दलों के प्रमुख बड़े नेता भी इसके विरोध में बुधवार को सड़कों पर उतर आए। इस बीच पुलिस ने तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच हुए हिंसक झड़प को लेकर दो अलग-अलग मामला दर्ज करके 58 लोगों को गिरफ्तार किया है। दोनों पक्षों के बीच झड़प में काफी लोग घायल भी हुए हैं। वाम दलों के कद्दावर नेता प्रकाश करात, सीताराम येचुरी, सूर्यकांत मिश्र, विमान बोस और सुजान चक्रवर्ती की अगुवाई में वाम मोर्चा कार्यकर्ताओं ने कालेज स्कवायर से हेडुआ तक रैली निकाली और प्रदर्शन किया। (इनपुट- पीटीआई/यूएनआई/एएनआई के साथ)

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here