जन वेदना सम्मेलन में राहुल गांधी ने पीएम मोदी को लिया निशाने पर

0
Follow us on Google News

नोटबंदी को लेकर जन वेदना सम्मेलन में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि नोटबंदी एक खराब फैसला था। राहुल की अगुवाई में बुधवार को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में हुए इस सम्मेलन में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे समेत पार्टी के तमाम दिग्गज और देश भर से बुलाए गए कार्यकर्ता शामिल हुए।

राहुल ने कहा कि ढाई साल पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने वादा किया था कि हिन्दुस्तान को स्वच्छ बना दूंगा। सभी को झाड़ू भी पकड़ाया, फैशन था, तीन-चार दिन चला, खुद भी झाड़ू पकड़ा, फिर भूल गए।

राहुल गांधी ने पीएम मोदी का मजाक उड़ाते हुए कहा कि जिन्हें योग नहीं आता उन्हें पद्मायन नहीं कर चाहिए। इसके बाद उन्होंने बाबा रामेदव पर निशाना साधते हुए कहा कि नोटबंदी के फैसले की सभी अर्थशास्त्रियों ने निंदा की, लेकिन इस सरकार के पास अपना होममेड अर्थशास्त्री हैं। इस सरकार के अर्थशास्त्री रामदेव हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राहुल गांधी ने कहा कि आज मीडिया के लोग खुलकर बोल नहीं पा रहे हैं। वे कहते हैं कि अब हवा बदल गई है। मोदी सरकार की नीतियों ने देश को 10 साल पीछे कर दिया। पीएम मोदी लोकतांत्रिक संस्थाओँ को कमजोर करने में लगे हैं। ये संस्थाएं ही देश की आत्मा हैं। ये लोग देश की आत्मा को खत्म करने में लगे हैं।

नोटबंदी पर उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने दुनिया का सबसे बड़ा आर्थिक प्रयोग हंसते-खेलते मजाक में ले लिया। उन्होंने देश के लोगों के खून-पसीने की कमाई को रद्दी में बदल दिया।

पीएम मोदी का नोटबंदी का फैसला पूरी तरह अपरिपक्व फैसला था। नोटबंदी की वजह से कई लोगों की नौकरी चली गई। राहुल ने कहा कि पीएम मोदी के फैसले ने देश के अर्थव्यवस्था की रीढ़ तोड़ दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here