‘राष्ट्रीय सुरक्षा’ को चुनावी मुद्दा बनाने का विरोध करने पर पीएम मोदी ने विपक्ष पर साधा निशाना

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय सुरक्षा को चुनावी मुद्दा बनाने का विरोध करने को लेकर बुधवार को विपक्ष पर निशाना साधा और कहा कि केवल आक्रामक रणनीति अपनाकर ही आतंकवाद का सफाया किया जा सकता है, जैसा कि उनकी सरकार ने किया।

पीटीआई के मुताबिक, पीएम मोदी ने बिहार के पालीगंज में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि महामिलावटी कहते हैं कि राष्ट्रीय सुरक्षा कोई मुद्दा नहीं है। ऐसा कैसे हो सकता है, जबकि आतंकवादी हमलों के कारण कितने आम लोगों की जान गई है? प्रधानमंत्री मोदी ने बालाकोट एयर स्ट्राइक का परोक्ष रूप से जिक्र करते हुए कहा, ‘‘हमने आतंकवादियों को जिस तरह घर में घुसकर मारा, उनका खात्मा होना ही था।’’

मोदी ने पाटलीपुत्र लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के तहत आने वाले पालीगंज में एक चुनावी रैली में कहा, ‘‘यह चुनाव के दौरान राज्य में मेरी आखिरी जनसभा है, लेकिन मैं अपने नए कार्यकाल में मेरी विकास परियोजनाओं के साथ आपके बीच वापस आऊंगा। आपका प्यार देखकर मुझे अपनी जीत का भरोसा हो गया है, लेकिन कृपया सुनिश्चित कीजिए कि आखिरी चरण में, जीत का अंतर बड़ा हो।’’

प्रधानमंत्री ने सैम पित्रोदा के ‘‘हुआ तो हुआ’’ बयान को लेकर भी कांग्रेस की आलोचना की और कहा कि यह 1984 के सिख विरोधी दंगों को लेकर विपक्षी दल के ‘‘अहंकार’’ को दर्शाता है। उन्होंने लालू प्रसाद के राजद का नाम लिए बगैर उस पर भी निशाना साधा और सत्ता हासिल करने के लिए जाति समर्थन का इस्तेमाल करने एवं कार्यकर्ताओं के योगदान को नजरअंदाज करके परिवार के लोगों को आगे बढ़ाने का आरोप लगाया।

उन्होंने सत्ता में रहने के दौरान अपराधीकरण को कथित बढ़ावा देने और गरीबों के जीवनस्तर में सुधार के लिए नवोन्मेष करने में ‘‘नाकाम’’ रहने को लेकर भी राजद की आलोचना की। बता दें कि सात चरणों में होने वाला लोकसभा चुनाव 11 अप्रैल को शुरू हुआ था और 19 मई को समाप्त होगा। मतगणना 23 मई को होगी।

Previous articleपुलिस एस्कार्ट नहीं मिलने से नाराज धरने पर बैठे पीएम मोदी के भाई, रॉबर्ट वाड्रा ने प्रधानमंत्री पर कसा तंज
Next articleElection Commission removes top bureaucrats in Bengal, invokes Article 324 to end campaigning for last phase of polls