गोरखपुर: डॉ. कफील खान के भाई पर जानलेवा हमला, बदमाशों ने मारी गोली, देखिए वीडियो

0

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जिले गोरखपुर के बाबा राघव दास (बीआरडी) मेडिकल कॉलेज में पिछले साल अगस्त महीने में हुई 60 से अधिक नवजात बच्चों की मौत केस से चर्चा में आए डॉक्‍टर कफील खान के छोटे भाई कासिफ जमील पर रविवार (10 जून) देर रात गोरखनाथ मंदिर से कुछ दूरी पर जानलेवा हमला हुआ। अज्ञात बाइक सवार बदमाशों ने कासिफ पर कई राउंड फायर किए। इनमें से तीन गोलियां कासिफ को लगी हैं।

Jameel’s wife Mrs Khalida at the hospital with injured husband

मामले की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने जमील को पास के अस्पताल में भर्ती कराया, जहां फिलहाल उसका इलाज चल रहा है। कोतवाली थाने के निरीक्षक घनश्याम तिवारी ने बताया कि रात में करीब 11 बजे बाइक सवार कुछ बदमाशों ने जेपी अस्पताल के पास जमील पर हमला किया। इस दौरान आरोपियों ने उनपर कई राउंड फायरिंग की।

उन्होंने बताया कि घटना में जमील के दाहिने हाथ, गर्दन और चेहरे पर गंभीर चोटें आई हैं। तिवारी ने बताया कि अभी तक इस मामले में हमारे पास कोई शिकायत नहीं आई है। शिकायत आने के बाद ही हम इस मालमे में जांच शुरू करेंगे। वहीं एसएसपी शलभ माथूर ने बताया कि पुलिस टीम घटना स्थल और अस्पताल पहुंच चुकी है। दोनों जगह से अपराधियों के संबंध में जानकारी जुटाई जा रही है।

उन्होंने कहा कि फिलहाल पीड़ित अभी कुछ स्पष्ट नहीं बता पा रहा है। माथुर ने दावा किया कि अपराधियों को जल्द पकड़ लिया जाएगा। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उनकी हालात नाजुक बताई जा रही है। आपको बता दें कि कफील खान और उनका परिवार लगातार प्रदेश सरकार पर गंभीर आरोप लगाता रहा है। बीआरडी केस में जेल गए कफील ने जमानत पर बाहर आने के बाद भी अपने व परिवार पर खतरे की बात कही थी।

गौरतलब है कि गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में पिछले अगस्‍त महीने में हुई बच्‍चों की मौत के मामले में जेल गए डॉ.  कफील खान को एक महीने पहले 25 अप्रैल को करीब 8 माह बाद जमानत मिली थी। अगस्त, 2017 में एक हफ्ते के भीतर अस्पताल में 60 से अधिक बच्चों, ज्यादातर शिशुओं की मौत हो गई थी। आरोप था कि ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं होना हादसे की वजह बना।

हालांकि योगी सरकार ने इससे इनकार कर दिया था कि ऑक्सीजन की कमी मौतों का कारण बनी थी। इस घटना के दौरान कफील तब चर्चा में आए थे जब मीडिया में उन्हें बच्चों के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर पहुंचाते हुए दिखाया गया था। हालांकि बाद में इसी मामले उन्हें आरोपी भी बनाया गया और उन्हें सस्पेंड कर दिया गया था।

Dr Kafeel's brother

Dr Kafeel's brother being carried in hospital after being shot at by unknown assailants

Posted by Janta Ka Reporter on Sunday, 10 June 2018

 

 

Previous articleRahul Gandhi’s prophecy comes true as Modi government junks UPSC, advertises jobs for joint secretary rank posts directly
Next article“CBI सीधे अमित शाह को रिपोर्ट करती है”