गुजरात पहुंची महाराष्ट्र जातीय हिंसा की आग, हाईवे जाम, विरोध प्रदर्शन, राज्यसभा-लोकसभा में हंगामा

0

भीमा-कोरेगांव लड़ाई की सालगिरह पर भड़की चिंगारी पूरे महाराष्ट्र में फैलने के बाद अब गुजरात को जला रही है। पुणे जातीय हिंसा की आग अब पड़ोसी राज्य गुजरात तक पहुंच गई है। महाराष्ट्र पहले ही सुलग रहा था, अब गुजरात के वालसाड के वापी में भी दलित सेना ने हाईवे जाम कर टायरों का आग के हवाले कर दिया।

गुजरात
Photo Courtesy: ANI

पूरे दिन गुजरात के कई शहरों में विरोध प्रदर्शन का सिलसिला जारी रहा। गुजरात के नदुरबार से नासिक जाने वाली बसों को भी रोक दिया गया है. यहां दलित सेना महाराष्ट्र में मराठाओं और दलित के बीच हुए जातीय संघर्ष के खिलाफ सड़क पर उतरी है। बुधवार देर रात दलित समुदाय के कुछ लोगों ने चाणस्मा हाइवे पर टायर जलाकर विरोध प्रदर्शन किया।

राज्यसभा और लोकसभा में विपक्ष के सदस्‍यों ने महाराष्ट्र में जातीय हिंसा का मुद्दा उठाया। मलिकार्जुन खड़गे ने कहा कि देश के दलितों पर अत्‍याचार हो रहा है और जहां-जहां BJP की सरकार वहां ज्‍यादा-ज्‍यादा दंगे होते हैं। उन्‍होंने कहा कि समाज में बंटवारा करने के लिए, कट्टर हिंदुत्ववादी जो वहां आरएसएस के लोग हैं और इसके पीछे उनका हाथ है। उन्‍होंने कहा कि महाराष्ट्र हिंसा पर PM मोदी चुप नहीं रह सकते! वह ऐसे मुद्दों पर ‘मौनी बाबा’ कैसे हो सकते हैं।

बता दें कि एक जनवरी को पुणे के पास स्थित भीमा-कोरेगांव में दलित समाज के शौर्य दिवस पर भड़की जातीय हिंसा के विरोध में प्रकाश अंबेडकर सहित सैकड़ों दलित संगठनों द्वारा पूरे महाराष्ट्र में बंद का ऐलान किया गया था। बुधवार को महराष्‍ट्र बंद के ऐलान के बाद कई जगहों पर हिंसक झड़प हुई जिसके बाद पूरे महाराष्‍ट्र में तनाव की स्‍थिति बनी रही। फिलहाल राज्य में मोटे तौर पर हालात शांतिपूर्ण हैं और लोकल ट्रेन की सेवाएं फिर से बहाल हो गई हैं।

आपको बता दे कि इस बारें में कांग्रेस ने भाजपा पर दलितों के खिलाफ अत्याचार को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए मांग की कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को महाराष्ट्र के भीमा-कोरेगांव की घटना पर बयान देना चाहिए तथा सुप्रीम कोर्ट के किसी वर्तमान न्यायाधीश से मामले की जांच करानी चाहिए। लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने इस विषय पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर चुप्पी साधने का आरोप लगाया और कहा कि वह दलितों से जुड़ी इस तरह की घटनाओं पर हमेशा चुप रहते हैं और वह मौनी बाबा बने हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here