वीडियो जारी कर 2 युवकों ने ली उमर खालिद पर हमले की जिम्मेदारी, JNU छात्र ने अर्नब गोस्वामी, सुधीर चौधरी और रोहित सरदाना पर साधा निशाना

0

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) छात्र नेता उमर खालिद पर कुछ अज्ञात लोगों ने सोमवार (13 अगस्त) को संसद भवन के पास कांस्टीट्यूशन क्लब के ठीक बाहर फायरिंग कर दी। हालांकि उन्हें कोई गोली नहीं लगी और वह सकुशल बच गए। प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा है कि जब खालिद क्लब के गेट पर थे तब दो गोलियां चलाई गई। खालिद यहां ‘यूनाइटेड अगेंस्ट हेट’ संगठन के ‘खौफ से आजादी’ नामक एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे।

उमर खालिद पर हुए हमले की जिम्मेदारी लेते हुए दो युवकों ने एक वीडियो जारी किया है। इस वीडियो में खालिद पर हमले की जिम्मेदारी लेते हुए दोनों ने कहा है कि वो खालिद पर हमला करके स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लोगों को आजादी का तोहफा देना चाहते थे। इस वीडियो में इन दोनों युवकों ने अपने नाम सर्वेश शाहपुर और नवीन दलाल बताया है। इस वीडियो में एक शख्स ने हाथ में तिरंगा झंडा ले रखा है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहें इस सर्वेश शाहपुर और नवीन दलाल कहते हुए दिख रहे हैं कि हमने उमर पर हमला किया है और जिसके बाद यह युवक कह रहें है कि पुलिस इस हमले की जांच में दूसरे लोगों को परेशान न करे। इस वीडियो के अंत में दोनों युवकों ने यह भी कहा कि वो 17 अगस्त को सिख क्रांतिकारी करतार सिंह सराभा के घर के सामने सरेंडर करने वाले हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मामले की जांच कर रहे स्पेशल सेल के पुलिस अधिकारी ने बताया कि अगर इस वीडियो में दावा करने वाले युवकों का दावा सही पाया जाता है तो पुलिस इनको गिरफ्तार करेगी। वीडियो जारी होने के बाद गुरुवार से ही पुलिस ने इन दोनों युवकों की खोज शुरू कर दी है। पुलिस को शक है कि ये वीडियो पंजाब या हरियाणा में कहीं रिकॉर्ड किया गया है।

उमर खालिद ने इस वीडियो के बारे में ट्वीट करते हुए कहा, ‘दो युवकों ने मुझ पर हमला करने की जिम्मेदारी लेते हुए एक वीडियो जारी किया है।’ साथ ही खालिद ने लिखा, ‘अर्नब गोस्वामी, सुधीर चौधरी, रोहित सरदाना, राहुल शिवशंकर यह उस झूठ का प्रभाव है जो आप अपने स्टूडियो में बैठकर फैलाते हैं।’ खालिद ने पूछा, ‘कोई शर्म है? या यह पूछने के लिए काफी है।’

इसके बाद खालिद ने एक तस्वीर ट्वीट की जिसमें तीन शख्स एक साथ खड़े हैं। इस तस्वीर को शेयर करते हुए खालिद ने लिखा, जिस शख्स ने मुझ पर हमला किया (दाईं तरफ) वह सुदर्शन चैनल का एडिटर इन चीफ सुरेश चव्हाणके के साथ है।

बता दें कि उमर खालिद पर कुछ अज्ञात लोगों ने सोमवार (13 अगस्त) को संसद भवन के पास कांस्टीट्यूशन क्लब के ठीक बाहर फायरिंग कर दी। हालांकि उन्हें कोई गोली नहीं लगी और वह सकुशल बच गए। प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा है कि जब खालिद क्लब के गेट पर थे तब दो गोलियां चलाई गई। खालिद यहां ‘यूनाइटेड अगेंस्ट हेट’ संगठन के ‘खौफ से आजादी’ नामक एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे।

समाचार एजेंसी पीटीआई/भाषा के मुताबिक खालिद के साथ कांस्टीट्यूशन क्लब गए सैफी ने कहा, ‘हम चाय पीने गए थे जब तीन लोग हमारी तरफ आए। उनमें से एक ने खालिद को जकड़ लिया जिसका विरोध करते हुए खालिद ने खुद को छुड़ाने की कोशिश की।’ सैफी ने कहा, ‘गोली चलने की आवाज आने के साथ वहां अव्यवस्था मच गई। लेकिन खालिद घायल नहीं हुए। आरोपियों ने भागते समय एक और गोली चलाई।’

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, घटना के बाद उमर खालिद ने कहा ‘देश में खौफ का माहौल है और सरकार के खिलाफ बोलने वाले हर व्यक्ति को डराया-धमकाया जा रहा है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here